बिहार में बाढ़ से 123 लोगों की मौत, 81 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

बिहार के 12 जिलों में आयी बाढ़ से अब तक 123 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 81 लाख 57 हजार 700 की आबादी प्रभावित हुई है.

बिहार में बाढ़ से 123 लोगों की मौत, 81 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

बिहार में बाढ़ से 123 लोगों की मौत

खास बातें

  • बिहार में बाढ़ से 123 लोगों की मौत
  • 81 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित
  • 12 जिलों में कुल 42 राहत शिविर चलाए जा रहे
नई दिल्ली:

बिहार के 12 जिलों में आयी बाढ़ (Flood) से अब तक 123 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 81 लाख 57 हजार 700 आबादी प्रभावित हुई है. आपदा प्रबंधन विभाग ने बुधवार को बताया कि बिहार के 12 जिलों शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया एवं कटिहार में बाढ़ से अब तक 123 लोगों की मौत हुई है जबकि 81 लाख 57 हजार 700 लोग प्रभावित हुए हैं. बिहार में बाढ़ (Flood) से मरने वाले 123 लोगों में सीतामढ़ी के 37, मधुबनी के 30, अररिया के 12, शिवहर एवं दरभंगा के 10—10, पूर्णिया के 9, किशनगंज के 5, मुजफ्फरपुर के 4, सुपौल के 3, पूर्वी चंपारण के 2 और सहरसा का एक व्यक्ति शामिल है. 

असहिष्णुता के खिलाफ PM को चिट्ठी: ममता बनर्जी बोलीं- मैं तो लंबे समय से यही बात कह रही हूं

बिहार के बाढ़ प्रभावित इन 12 जिलों में कुल 42 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं जहां 22400 लोग शरण लिए हुए हैं जिनके भोजन की व्यवस्था के लिए 835 सामुदायिक रसोई चलाई जा रही हैं. बाढ़ प्रभावित इलाके में राहत एवं बचाव कार्य के लिये एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 26 टीम और 796 मानव बल को लगाया गया है और 125 मोटरबोट का इस्तेमाल किया जा रहा है. 

केंद्रीय जल आयोग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार की कई नदियां बूढ़ी गंडक, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, कोसी, महानंदा और परमान नदी विभिन्न स्थानों पर आज सुबह खतरे के निशान से ऊपर बह रही थी.  मौसम विभाग के अनुसार बिहार की सभी नदियों के जलग्रहण क्षेत्रों में गुरूवार की सुबह तक हल्की से साधारण बारिश की संभावना जतायी गयी है. 

वहीं बारिश संबंधी घटनाओं के चलते उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में 54 लोगों की मौत हो गई है जबकि असम में बुधवार को बाढ़ की वजह से छह और लोगों की मौत हो गई है. मानसून की बारिश कई इलाकों में देखी जा रही है और मुंबई एवं उसके आसपास के जिलों में जलप्रलय जैसे हालात बन गए हैं. मौसम विभाग ने दिल्ली सहित पूर्वी और उत्तरी क्षेत्रों के कई राज्यों में अगले कुछ दिनों में बारिश होने का अनुमान जताया है.

कर्नाटक में 'कांग्रेस-जेडीएस' सरकार गिरने के बाद बोले कुमारस्वामी- मैं सबसे ज्यादा खुश हूं क्योंकि...

 बिहार में बीते दो दिनों भारी बारिश के बीच बाढ़ की वजह से 17 लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा बिजली गिरने से बिहार के औरंगाबाद, पूर्वी चम्पारण और भागलपुर जिलों में 13 लोगों की तथा झारखंड के जामताड़ा, रामगढ़ और पाकुड़ जिलों में 10 लोगों की जान चली गई. पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को जानकारी दी कि इन लोगों की मौत मंगलवार की रात से लेकर अब तक बिजली गिरने की घटनाओं में हुई है. 

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में अलग-अलग घटनाओं में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई. मुख्यमंत्री ने संबंधित जिलाधिकारियों को इन घटनाओं में जान गंवाने वाले लोगों के परिजन को चार-चार लाख रुपए की राहत राशि तत्काल देने के निर्देश दिए हैं. राज्य सरकार द्वारा बुधवार को यहां जारी एक बयान में बताया गया, 'बुधवार को सात मौतों की सूचना मिली है. आज तीन लोगों की अलीगढ़, दो की रायबरेली तथा बांदा और मिर्जापुर में एक-एक व्यक्ति की दैवीय आपदा में मौत हुई है.' 

बयान में कहा गया, 'कल मंगलवार को बलिया में दो, मिर्जापुर, अंबेडकरनगर और कानपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत सांप कांटने से हुई थी, जबकि सोनभद्र और जौनपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत बिजली गिरने से हुई है.' असम में बाढ़ से अब भी विकट स्थिति बनी हुई है. छह और लोगों की मौत के बाद अब मृतकों की संख्या 74 तक पहुंच गई है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के मुताबिक 33 जिलों में से 20 जिलों में बाढ़ से 38.82 लाख लोग प्रभावित हैं. 

आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि 20 जिलों के 2,993 गांव अब भी बाढ़ में डूबे हुए हैं और इससे 34,82,170 लोग प्रभावित हैं. प्राधिकरण ने बताया कि मौत के छह ताजा मामले सामने आए. नलबाड़ी, बारपेटा, धुबरी और गोलाघाट जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि तीन लोगों की मौत मोरीगांव में हुई. करीब एक सप्ताह तक मौसम शुष्क रहने के बाद मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में मंगलवार रात एवं बुधवार को भारी बारिश हुई जिसके कारण कुछ इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई. 

हत्या मामले में शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी तलब

इसकी वजह से स्थानीय ट्रेन सेवाएं और सड़क यातायात प्रभावित हुआ. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक प्रवक्ता ने बताया कि उपनगर अंधेरी में भारी बारिश के कारण दृश्यता कम होने की वजह से तीन कारों की टक्कर हो गई. इसके कारण आठ लोग घायल हो गए. उन्होंने बताया कि इनमें से दो घायलों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ये दोनों जुहू के एक पांचसितारा होटल के कर्मी हैं. मौसम विभाग ने अगले दो दिन में शहर तथा उसके उपनगरों में और अधिक बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है. 

दिल्ली में दोपहर के वक्त तक उमस रही लेकिन शाम के समय कुछ इलाकों में बारिश देखी गई जिससे तापमान में गिरावट आ गई. मौसम वैज्ञानिकों ने गुरूवार और शुक्रवार को दिल्ली के कुछ इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान लगाया है. पश्चिम बंगाल के निचले इलाकों में भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं और मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में और बारिश होने का अनुमान लगाया है. यहां के दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, जलपाईगुड़ी, कूचबिहार और अलीपुरद्वार इलाकों में शुक्रवार तक बहुत अधिक बारिश होने का अनुमान लगाया गया है. जबकि दक्षिण बंगाल में मानसूनी बारिश की कमी बनी हुई है. राजस्थान में पिछले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई. 

वहीं राज्य के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में मंगलवार के मुकाबले एक से दो डिग्री सेल्सियस की वृद्वि दर्ज की गई. मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान जयपुर में 2.78 सेंटीमीटर बारिश और जैसलमेर जोधपुर में बूंदाबांदी दर्ज की गई. हिमाचल प्रदेश में 25 जुलाई को भारी बारिश को लेकर चेतावनी जारी की गई है. जम्मू कश्मीर में बुधवार को बादल छाये रहने से लोगों को राहत मिली. यहां अगले तीन दिनों में बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने को लेकर चेतावनी जारी की गई है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उत्तर प्रदेश : बांदा में 9 साल की बच्ची से दुष्कर्म की कोशिश में अधेड़ व्यक्ति गिरफ्तार

पंजाब के संगरूर और पटियाला जिलों सहित कुछ इलाकों में गत सप्ताह भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात देखे गए. मौसम विभाग ने यहां के कुछ कुछ इलाकों में 24 और 26 जुलाई को भारी बारिश होने का अनुमान जताया है. मौसम विभाग ने हरियाणा में भी बारिश होने का अनुमान जताया है. (इनपुट: भाषा)