NDTV Khabar

14 साल का भारतीय चित्रकार जिसने दुनिया में बनाई अपनी पहचान

चित्रकारी उन पेशों में से है जिसके बारे में कहा जाता है कि उसके लिए आपको "गॉड गिफ्टेड" होना चाहिए. हालांकि ट्रेनिंग और प्रशिक्षण से उसे काफी बेहतर किया जा सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
14 साल का भारतीय चित्रकार जिसने दुनिया में बनाई अपनी पहचान

खास बातें

  1. 14 साल की उम्र में देश और दुनिया में अपने काम से नाम कमा रहा
  2. आदि प्रिय को मिल चुका है "यंगेस्ट नाइव आर्टिस्ट" का खिताब
  3. चित्रकारी सीखने के लिए कोई औपचारिक ट्रेनिंग नहीं ली
नई दिल्ली:
टिप्पणियां

चित्रकारी उन पेशों में से है जिसके बारे में कहा जाता है कि उसके लिए आपको "गॉड गिफ्टेड" होना चाहिए. हालांकि ट्रेनिंग और प्रशिक्षण से उसे काफी बेहतर किया जा सकता है. आज हम एक बाल चित्रकार से आपको परिचित करवा रहे हैं जो 14 साल की उम्र में देश और दुनिया में अपने काम से नाम कमा रहा है. हरियाणा के फरीदाबाद में पले-बढ़े आदि प्रिय को "यंगेस्ट नाइव आर्टिस्ट" का ख़िताब मिल चुका है. 2019 में प्रकाशित "इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड" में आदि का नाम इसी रूप में दर्ज है. "नाइव आर्टिस्ट" का मतलब ये है कि उन्होंने चित्रकारी सीखने के लिए कोई औपचारिक ट्रेनिंग नहीं ली है. एनडीटीवी से बातचीत में आदि के पिता प्रीतम जो हरियाणा पुलिस में हेड कांस्टेबल के तौर पर फरीदाबाद में तैनात  है, वो कहते हैं कि 6 जनवरी 2018 को बेटे ने एक बार स्कूल की छुट्टी पर कागज पर होम वर्क के दौरान एक पेंटिंग बनाई. उन्होंने बेटे की पेंटिंग और उसके रुझान को देखते हुए पेंटिंग बनाने के लिए उसको शीट लेकर दी. शीट मिलने के बाद उसके हुनर ने अपने जौहर दिखाने शुरू कर दिए.

उनके पिता ने बताया कि पेंटिंग की तरफ रुझान को देखते हुए वो उसको आगे बढ़ते देखना चाहते हैं. वो कहते हैं कि आदि ने महज डेढ़ साल में ये सब सीखा है और सीखने के लिए उसने यूट्यूब का सहारा लिया. अपनी छोटी सी उम्र में ही आदि प्रिय ने कई प्रदर्शनियों में भी हिस्सा लिया है. अभी हाल में दुबई में 3 अप्रैल 2019 से 6 अप्रैल 2019 में आयोजित "वर्ल्ड आर्ट फेयर" में आदि प्रिय ने "सोलो शो" यानी अकेले ही अपनी प्रदर्शनी आयोजित की. पिछले साल 10 दिसंबर से 14 दिसंबर 2018 में भी आदि ने प्रतिष्ठित इंडियन कौंसिल फॉर कल्चरल रिलेशन्स की आर्ट गैलरी में सोलो शो किया था. पिता बताते हैं कि आदि प्रिय कैनवस पेंटिंग्स, ऑइल पेंटिंग्स, चारकोल पेंटिंग्स, हाइपर रियलिस्टिक पेंटिंग्स और पोर्ट्रेट में भी अच्छा कमांड रखते हैं. आदि प्रिय ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि मैं अपनी पेटिंग के जरिये पर्यावरण पर खास फोकस करता हूं. अब पेंटिंग करना मेरा शौक बन गया है. मैं पूरी दुनिया में पेंटिंग के जरिये देश के साथ मां बाप का नाम रोशन करना चाहता हूं. 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement