NDTV Khabar

15 महिलाओं और तीन वरिष्‍ठ पत्रकारों को 'डॉ. सत्‍या जांगिड स्‍मृति सम्‍मान' मिला

देश के वरिष्‍ठ संचारकर्मियों के संगठन 'भारतीय जन संचार संघ' ने संयुक्‍त रूप से दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा और महाराष्‍ट्र की ऐसी साहसी 15 महिलाओं को सम्‍मानित किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
15 महिलाओं और तीन वरिष्‍ठ पत्रकारों को 'डॉ. सत्‍या जांगिड स्‍मृति सम्‍मान' मिला

प्रो. (डॉ.) जयश्री जेठवानी को भी सम्‍मानित किया गया

नई दिल्ली: महिला सशक्‍तिकरण को बढ़ावा देने के लिए दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के दौलतराम महिला महाविद्यालय के नारी विकास प्रकोष्‍ठ और देश के वरिष्‍ठ संचारकर्मियों के संगठन 'भारतीय जन संचार संघ' ने संयुक्‍त रूप से दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा और महाराष्‍ट्र की ऐसी साहसी 15 महिलाओं को सम्‍मानित किया जिन्‍होंने विभिन्‍न क्षेत्रों में महिलाओं को अलग पहचान दिलाई है. इस कार्यक्रम की संयोजिका डॉ. अनिता गर्ग मंगला थीं. इसके अलावा पत्रकारिता में 25 वर्षों से अधिक समय से उल्‍लेखनीय योगदान देने वाले दो हिंदी पत्रकारों के साथ एक हिंदी मासिक पत्रिका के संस्‍थापक संपादक को भी सम्‍मानित किया गया.

यह भी पढ़ें: सरकारी शिक्षकों के लिए बड़ा ऐलान, अब राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए सीधे भेज सकेंगे नामांकन

सम्‍मानित होने वाले हिंदी पत्रकार हैं सत्‍येंन्‍द्र रंजन और राष्‍ट्रीय सहारा के स्‍थानीय संपादक रत्‍नेश मिश्र. सम्‍मान पाने वाले तीसरे व्‍यक्‍ति हैं महेंद्र कुमार राजपूत. सम्‍मान देश के वरिष्‍ठ पत्रकार और भाषायी पत्रकारिता शिक्षा के भीष्‍म पितामह कहे जाने वाले प्रो. (डॉ.) रामजीलाल जांगिड, पूर्व पत्रकार शेष नारायण सिंह, भारत सरकार के पूर्व सचिव रहे डॉ. कमल टावरी और दौलतराम महिला विद्यालय की प्राचार्य डॉ. सवित राय ने मिलकर दिए. साध्‍वी प्रज्ञा भारती विशेष अतिथि थीं.
 
edp42e9s

सम्‍मान पाने वाली महिलाओं में से चार- प्रो. (डॉ.) जयश्री जेठवानी, प्रो.(डॉ.) वंदना पांडेय, डॉ. माला मिश्र और डॉ. पारुल मेहरा को जन संचार की शिक्षा देने और इस विषय पर पुस्‍तकें प्रकाशित करने के लिए 'डॉ. सत्‍या जांगिड स्‍मृति सम्‍मान, 2018' दिया गया. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: 2002 में दूरदर्शन से करियर शुरू करने वाली इस एक्ट्रेस को मिला राजीव गांधी अवार्ड

गांधीवादी चिंतक प्रो. (डॉ.) सीता बिम्‍ब्रा को खादी, चरखा और शास्‍त्रीय संगीत को बढ़ावा देने के लिए यह सम्‍मान मिला. उन्‍होंने लगभग 18 पुस्‍तकें लिखी हैं. शारीरिक शिक्षा, योग और आयुर्वेद की विशेषज्ञ डॉ. सुधा शर्मा ने लगभग 45 पुस्‍तकें प्रकाशित की हैं.
 
6rq73l

डॉ. पारुल मेहरा की अंग्रेजी पुस्‍तक, 'चेंजिंग एथिक्‍स इन इंडियन मीडिया स्‍केप' का भी विमोचन किया गया. चकप्रभ बिनोदिनी देवी को मणिपुरी भाषी होने के बावजूद हिंदी में जन संचार संबंधी वैज्ञानिक शब्‍दावली तैयार करने में मदद देने के लिए सम्‍मान मिला.

VIDEO: प्राइम टाइम : हिमालय पार प्रतिभा की एक प्रयोगशाला

स्‍नेहलता पांचाल, सुनीता धारीवाल जांगिड (पंचकूला, हरियाणा), डॉ. शीला टावरी (वर्धा, महाराष्‍ट्र), अंजू श्रीवास्‍तव, राज अग्रवाल (आगरा, उत्‍तर प्रदेश), रेणु शर्मा और श्रीम‍ती नीलमणि भाटिया को भी स्‍त्र‍ियों को अलग पहचान देने के लिए 'डॉ. सत्‍या जांगिड स्‍मृति सम्‍मान' दिया गया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement