Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

अखबारों की सुर्खियां : कांग्रेस को लगा जोर का झटका-लवली बीजेपी में पहुंचे, माल्‍या महज तीन घंटे के लिए गिरफ्तार

ईमेल करें
टिप्पणियां
अखबारों की सुर्खियां : कांग्रेस को लगा जोर का झटका-लवली बीजेपी में पहुंचे, माल्‍या महज तीन घंटे के लिए गिरफ्तार

अखबारों की सुर्खियां...

नई दिल्ली: 18 अप्रैल के हिंदी के प्रमुख अखबरों के दिल्‍ली संस्‍करण में एमसीडी चुनाव से पहले कांग्रेस के यहां के दिग्‍गज नेता अरविंदर लवली के बीजेपी में शामिल होने की खबर को दैनिक जागरण ने मुख्‍य खबर बनाया है. इसका शीर्षक है, 'लवली ने थामा भगवा दामन.' इसमें लिखा है कि निगम चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका. बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में लवली ने बीजेपी की सदस्‍यता ली. हिंदुस्‍तान ने शीर्षक लगाया है- 'अरविंदर लवली भाजपा के साथ.'

हालांकि दैनिक जागरण अखबार ने इस खबर की पृष्‍ठभूमि में एक न्‍यूज विश्‍लेषण भी छापा है. इसमें बताया गया है कि पूर्व मुख्‍यमंत्री शीला दीक्षित और अजय माकन की लड़ाई से कांग्रेस बिखर रही है. इसके मुताबिक ''पिछले विधानसभा चुनाव और उसके बाद लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद पार्टी नेतृत्‍व ने शीला के खास रहे लवली से प्रदेश की कमान छीनकर अजय माकन को सौंप दी. कांग्रेस ने 2015 में उनको चेहरा बनाकर विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन एक भी सीट नसीब नहीं हुई. उसके बाद माकन विरोधियों ने उन पर हमले बोलने शुरू कर दिए. शीला समर्थक माकन पर उपेक्षा का आरोप लगाते रहे हैं...अध्‍यक्ष पद की कुर्सी जाने से आहत लवली के समर्थकों को भी जब टिकट नहीं मिला तो उन्‍होंने भाजपा में जाने का फैसला किया...''  दैनिक जागरण के पहले पेज पर ही एमसीडी चुनाव से संबंधित एक खबर यह भी है भाजपा ने नरेला से प्रत्‍याशी सविता को पार्टी से निष्‍कासित कर दिया है. उनमें प्रचार में सेक्‍स सीडी कांड के आरोपी आप के पूर्व मंत्री संदीप कुमार शामिल हुए थे. इसके चलते उत्‍पन्‍न हुए विवाद के कारण सविता को पार्टी से निकाला गया.

'हिंदुस्‍तान' ने विजय माल्‍या की गिरफ्तारी और उनकी तीन घंटे में रिहाई को प्रमुख खबर बनाया है. इसके मुताबिक माल्‍या 9000 करोड़ रुपये का कर्ज लेकर फरार हैं. इसके अलावा अखबार ने हरियाणा समेत आठ राज्‍यों से हर रविवार पेट्रोल पंप बंद रहने की खबर को प्रमुखता से छापा है. इसके अलावा अखबार ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु की अधिकारियों को दी यह चेतावनी भी प्रमुखता से छापी है कि ट्रेनों की देरी रोंके वरना उन पर गाज गिरना तय है. लगातार दूसरे साल मानसून के सामान्‍य रहने की सुकून भरी खबर भी इस अखबार की प्रमुख सुर्खी है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement