NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर पर 'घड़ियाली आंसू' बहाने वाला पाकिस्तान इस साल 2050 बार कर चुका है सीजफायर का उल्लंघन

पाकिस्तान की ओर से इस साल अब तक 2050 बार सीजफायर तोड़ा जा चुका है जिसमें 21 लोगों की जान गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर पर 'घड़ियाली आंसू' बहाने वाला पाकिस्तान इस साल  2050 बार कर चुका है सीजफायर का उल्लंघन

पाकिस्तान की ओर से इस साल 2050 बार सीजफायर तोड़ा गया है.

खास बातें

  1. पाकिस्तान की नापाक हरकत
  2. 2050 बार सीजफायर का उल्लंघन
  3. 21 लोगों की जा चुकी है जान
नई दिल्ली:

पाकिस्तान की ओर से इस साल अब तक 2050 बार सीजफायर तोड़ा जा चुका है जिसमें 21 लोगों की जान गई है. यह जानकारी आज केंद्र सरकार की ओर से दी गई है. केंद्र सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तान की ओर से कई बार कहा गया है कि वह साल 2003 में हुए समझौते का पालन करे. आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से यह जानकारी उस समय आई है जब पाकिस्तान की ओर से संयुक्त राष्ट्र में भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार के उल्लंघन का आरोप लगाया है. केंद्र सरकार के प्रवक्ता ने कहा, ' हमने सीमा पार से फायरिंग और घुसपैठ कराने और भारतीय नागरिकों को निशाना बनाने की कोशिशों पर चिंता जताई है'. प्रवक्ता ने आगे कहा, 'इस साल उनकी ओर से 2050 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया है जिसमें 21 लोगों की जानें गई हैं. हमने कई बार पाकिस्तान को फोन करके कहा है कि वह अपने सैनिकों को 2003 में हुए समझौते का पालन करने के लिए कहे.'

जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से छोटे हथियारों और मोर्टार से फायरिंग, सेना ने भी दिया जवाब


इसके साथ ही प्रवक्ता ने यह भी कहा कि भारतीय सेना की ओर से पाकिस्तान की ओर से की जा रही फायरिंग और घुसपैठ की कोशिशों का मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है. आपको बता दें कि पाकिस्तान ने पिछले हफ्ते ही जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कई अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठा चुका है. इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद में भी भारत पर आरोप लगाते हुए यह मुद्दा उठा चुका है.  वहीं भारत ने जवाब दिया है कि पाकिस्तान को 'उन्मादी बयानों' और 'गलत अवधारणा' के साथ जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है. 

टिप्पणियां

पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, पुंछ में 3 नागरिकों की मौत​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement