NDTV Khabar

अब दो जजों ने CJI को लिखी चिट्ठी, फुल कोर्ट मीटिंग बुलाने की मांग

जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस मदन लोकुर ने CJI दीपक मिश्रा को चिट्ठी लिखी है. दो लाइनों की इस चिट्ठी के जरिये सीजेआई से फुल कोर्ट मीटिंग बुलाने की मांग की गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब दो जजों ने CJI को लिखी चिट्ठी, फुल कोर्ट मीटिंग बुलाने की मांग

सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली: CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का नोटिस खारिज होने के बाद अब सुप्रीम कोर्ट के ही दो जजों ने उन्हें चिट्ठी लिखकर फुल कोर्ट मीटिंग बुलाने की मांग की है. जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस मदन लोकुर ने CJI दीपक मिश्रा को चिट्ठी लिखी है. दो लाइनों की इस चिट्ठी के जरिये सीजेआई से फुल कोर्ट मीटिंग बुलाने की मांग की गई है. कहा गया है कि संस्थानिक मुद्दों व अदालत के भविष्य पर विचार करने की जरूरत है, लेकिन चीफ जस्टिस ने इसका कोई जवाब नहीं दिया है.

यह भी पढ़ें : चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग निरस्त - अभियोगों पर फैसला बाकी

गौरतलब है कि इससे पहले सोमवार को भी जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस लोकुर ने ये मुद्दा सुबह की रुटीन चाय मीटिंग में उठाया था. वहीं 9 अप्रैल को जस्टिस कुरियन जोसफ ने भी चीफ जस्टिस को चिट्ठी लिखकर कॉलेजियम की सिफारिशों पर सरकार के रवैए पर कदम उठाने को कहा था. गौरतलब है कि पिछले दिनों विपक्षी दलों ने CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव (Impeachment Motion) सौंपा था. राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इसे खारिज कर दिया था.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : महाभियोग प्रस्ताव को खारिज करना गैरकानूनी, सुप्रीम कोर्ट जाएंगे : कांग्रेस

वहीं, इससे पहले जनवरी में भी सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम न्यायाधीश जस्टिस जे. चेलामेश्‍वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ ने प्रेस वार्ता की थी. उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन ठीक तरह से काम नहीं कर रहा है, और यदि संस्था को ठीक नहीं किया गया, तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement