NDTV Khabar

केजरीवाल समेत दुनिया के 20 नेता कोपेनहेगन में अपना-अपना शहर स्वच्छ रखने की लेंगे शपथ

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल 9 से 12 अक्टूबर तक डेनमार्क के कोपेनहेगन में आयोजित की जा रही C40 वर्ल्ड मेयर समिट में शामिल होंगे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केजरीवाल समेत दुनिया के 20 नेता कोपेनहेगन में अपना-अपना शहर स्वच्छ रखने की लेंगे शपथ

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल डेनमार्क के कोपेनहेगन में सी40 वर्ल्ड मेयर समिट में भाग लेंगे.

खास बातें

  1. कोपनहेगन में क्लीन एयर सिटीज डिक्लेरेशन होगा
  2. 11 अक्टूबर को सुबह कोपेनहेगन में कार्यक्रम होगा
  3. C40 जलवायु परिवर्तन को लेकर दुनिया के बड़े शहरों का समूह
नई दिल्ली:

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दुनिया के उन 20 नेताओं में शामिल हैं जो डेनमार्क की राजधानी कोपनहेगन जाएंगे और प्रण लेंगे कि लघु और दीर्घकालिक प्रतिबद्धताओं से अपने-अपने शहर की हवा को स्वच्छ किया जाएगा. इस काम के लिए एक समय सीमा भी तय होगी. दिल्ली के सीएम केजरीवाल वहां पेरिस के महापौर ऐनी हिडाल्गो, लॉस एंजिल्स के मेयर एरिक गार्सेटी, कोपेनहेगन के लॉर्ड मेयर फ्रैंक जेन्सेन, पोर्टलैंड के मेयर टेड व्हीलर, जकार्ता के गवर्नर अनीस बसवदन और बार्सिलोना के मेयर एडा कोलाउ के साथ संवाददाता सम्मेलन में भी शामिल होंगे. प्रण लेने की उक्त घोषणा कोपेनहेगन में 11 अक्टूबर को सुबह 8:30 बजे सेंट्रल यूरोपियन समर टाइम (CEST) तिवोली कॉन्फ्रेंस सेंटर में होगी.

दिल्ली से कोपेनहेगन जाने वाले प्रतिनिधिमंडल के लिए कई द्विपक्षीय बैठकों की योजना बनाई जा रही है. सीएम केजरीवाल से प्रदूषण को रोकने और जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए दिल्ली के प्रयासों की चुनौतियों और सफलताओं को साझा करने की उम्मीद है.


सीएम केजरीवाल 9 से 12 अक्टूबर के बीच डेनमार्क के कोपेनहेगन में C40 वर्ल्ड मेयर समिट में शामिल होने वाले हैं. दुनिया के सबसे बड़े महानगरों में से एक के नेता के रूप में आमंत्रित मुख्यमंत्री दुनिया को प्रभावित करने वाले जलवायु संकट पर विचार-विमर्श करने के लिए शहरी बिजलीघरों की उच्च मेज पर न्यूयॉर्क, लंदन, पेरिस, लॉस एंजिल्स और बर्लिन जैसे शहरों के नेताओं में शामिल होंगे.C40 शिखर सम्मेलन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क वाट्स भी सीएम केरीवाल के साथ बैठक करेंगे. इसमें जलवायु नेतृत्व समूह में दिल्ली की निरंतर भागीदारी और दिल्ली की जलवायु परिवर्तन से लड़ने में बड़ी भूमिका हो सकती है.

स्कूली छात्रों को ‘डेंगू योद्धा' बनने के लिए अरविंद केजरीवाल ने किया प्रोत्साहित, वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ली क्लास

C40 शहरों का जलवायु नेतृत्व समूहC

40 जलवायु परिवर्तन को संबोधित करने के लिए प्रतिबद्ध दुनिया की मेगासिटीज का एक नेटवर्क है. C40 शहरों को प्रभावी ढंग से सहयोग करने, ज्ञान साझा करने और जलवायु परिवर्तन पर सार्थक, मापने योग्य और स्थायी कार्रवाई करने के लिए समर्थन करता है. दुनिया भर में C40 शहर साहसिक जलवायु कार्रवाई करने के लिए दुनिया के सबसे महान शहरों में से 94 को जोड़ता है, जो एक स्वस्थ और अधिक स्थायी भविष्य की ओर ले जाता है. 700 से ज्यादा मिलियन नागरिकों और वैश्विक अर्थव्यवस्था के एक चौथाई का प्रतिनिधित्व करते हुए, C40 शहरों के मेयर स्थानीय स्तर पर पेरिस समझौते के सबसे महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. साथ ही हम जिस हवा में सांस लेते हैं, उसकी सफाई के लिए भी प्रतिबद्धता हैं.

अरविंद केजरीवाल ने शेयर की नीले आसमान की साफ सुथरी तस्वीर, पूछा- किस शहर की...

मुख्यमंत्री दिल्ली में वायु प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार की ओर से किए गए प्रयास की विस्तृत जानकारी देंगे. दिल्ली के प्रदूषण को 25 प्रतिशत तक कम करने में अरविंद केजरीवाल सरकार को अभूतपूर्व सफलता मिली है. चार साल पहले तक दिल्ली दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल था.

CM केजरीवाल बोले- दिल्ली पूरे देश का इलाज कैसे करेगी? मनोज तिवारी ने कहा- इनका कलेजा क्यों फट रहा है?

उक्त बैठक में मुख्यमंत्री बेहतर बिजली आपूर्ति के लिए सरकार की ओर से किए गए प्रयासों पर प्रकाश डालेंगे. जैसे जनरेटर सेट का चलन दिल्ली में लगभग बंद हुआ. दिल्ली में औद्योगिक प्रदूषण में भारी कमी आई. मुख्यमंत्री के प्रयास के कारण 95 फीसद इंडस्ट्री के सीएनजी में शिफ्ट होने से औद्योगिक प्रदूषण में गिरावट आई. साथ ही दो थर्मल पावर प्लांट बंद किए गए. सरकार के प्रयास से निर्माण स्थलों से होने वाले प्रदूषण में कमी देखने को मिली. दिल्ली में हरियाली का दायरा बढ़ा.

तैयार हो जाइए दिल्लीवासियों: ऑफिस के खुलने-बंद होने के समय में हो सकता है बदलाव, ये है वजह

पर्यावरण मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि यह भारत के लिए गर्व का विषय है. भारत के एक नेता दुनिया के सामने दिल्ली की सफलता की कहानी पेश करेंगे. इसके अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल वायु प्रदूषण पर भविष्य की कार्ययोजना पर शिखर सम्मेलन के दौरान भी बात करेंगे. 'ब्रीथ डीप्ली' शीर्षक से एक सत्र में, शहर के नेता, विशेषज्ञ, और व्यापारिक नेता उन शहरों में चल रहे नए समाधानों पर चर्चा करेंगे, जिससे वायु गुणवत्ता में सुधार कर रहे हैं और स्वस्थ, अधिक न्यायसंगत और समृद्ध समुदायों का निर्माण कर रहे हैं.

DTU में 111 पेड़ों का प्रतिरोपण पर्यावरण के लिए उत्साहजनक संकेत : केजरीवाल

सीएम केजरीवाल के वायु प्रदूषण के समाधान के रूप में 'ऑड-ईवन' योजना के बारे में बोलने की भी संभावना है. वायु प्रदूषण से निपटने के उद्देश्य से दिल्ली सरकार की प्रमुख योजना 'ऑड-ईवन' ने पहली बार जनवरी, 2016 में अंतरराष्ट्रीय जिज्ञासा उत्पन्न की थी. दिल्ली के अलावा, केवल पेरिस और कुछ अन्य शहरों ने इस तरह की योजना को सफलतापूर्वक लागू किया गया है. मार्च 2016 में सीएम केजरीवाल को अभिनव ऑड ईवन योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए फोर्ब्स पत्रिका ने दुनिया के 50 सबसे महान नेताओं में से एक चुना था.

दिल्ली का पानी खराब होने पर रामविलास पासवान ने टोका तो केजरीवाल ने दिया जवाब

मुख्यमंत्री 'एशियन मेयर और सिटी लीडर्स कम कार्बन समावेशी विकास बैठक' नामक शिखर सम्मेलन के दौरान एक कार्यक्रम में वशिष्ठ वक्ता भी हैं. एशिया के सबसे बड़े शहरों के महापौर और शहर के नेता यह चर्चा करने के लिए मिलेंगे कि हरियाली का उपयोग करके और कम कार्बन पदचिह्न छोड़ने के लिए कैसे समावेशी और स्थायी विकास हो सकता है. सीएम केजरीवाल के दिल्ली सरकार के बिजली और अन्य क्षेत्रों के सुधारों की आपूर्ति में भारी निवेश के बारे में बोलने की संभावना है. इससे न केवल बिजली की आपूर्ति सस्ती हुई, बल्कि डीजल संचालित जनरेटर सेटों के माध्यम से होने वाले कार्बन उत्सर्जन में कमी आई.

VIDEO : स्वच्छता सिर्फ शब्द नहीं, जिंदगी का हिस्सा

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement