NDTV Khabar

PNB धोखाधड़ी : 200 मुखौटा कंपनियां और बेनामी संपत्ति ईडी-आयकर विभाग की जांच के दायरे में

ईडी और आयकर विभाग ने मामले की जांच के लिए विशेष दलों का गठन किया था. ईडी ने अब तक मामले में 5674 करोड़ रुपये के हीरे, सोने के जेवर और बेशकीमती रत्न जब्त किए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PNB धोखाधड़ी : 200 मुखौटा कंपनियां और बेनामी संपत्ति ईडी-आयकर विभाग की जांच के दायरे में

बीते तीन दिनों में पीएनबी धोखाधड़ी मामले में पूरे देश में 73 जगहों पर छापेमारी की गई है.

खास बातें

  1. बीते तीन दिनों में मामले में देश के 73 जगहों पर छापेमारी की गई है
  2. ईडी-आयकर विभाग ने 200 मुखौटा कंपनियों पर ध्यान केंद्रित किया है
  3. पीएनबी धोखाधड़ी मामले की जांच सीबीआई कर रही है
नई दिल्ली:

पीएनबी घोटाले के बाद जांच एजेंसियों ने 'बेनामी' कंपनियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. कम से कम 200 मुखौटा कंपनियां और 'बेनामी' संपत्तियां जांच एजेंसियों की जांच के दायरे में हैं. ये जांच एजेंसियां पीएनबी में 11 हजार 300 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी की जांच कर रही हैं, जिसमें हीरा कारोबारी नीरव मोदी, उसके रिश्तेदार और व्यापारिक भागीदार मेहुल चोकसी और अन्य के शामिल होने का आरोप है.

यह भी पढ़ें : पटना में भी गीतांजलि शोरूम पर ईडी का छापा, 2.25 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मोदी, चोकसी और उनकी कंपनियों की लगातार चौथे दिन तलाशी जारी रखी. ईडी धन शोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कम से कम दो दर्जन अचल संपत्तियों को कुर्क करने जा रही है. ईडी ने रविवार को देशभर में आभूषण शोरूम और कार्यशालाओं समेत कम से कम 45 परिसरों पर छापेमारी की. ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'आयकर विभाग ने नीरव मोदी, उनके परिवार के सदस्यों और कंपनियों की जिन 29 संपत्तियों को अस्थायी तौर पर कुर्क किया है, उसका पीएमएलए के तहत ईडी आकलन कर रही है. धन शोधन निरोधक कानून के तहत शीघ्र कुछ और संपत्तियों को भी कुर्क किया जाएगा.'


यह भी पढ़ें : पीएनबी ही नहीं इलाहाबाद बैंक के भी 2,000 करोड़ रुपये फंसे, 10 बड़ी बातें

उन्होंने कहा कि ईडी और आयकर विभाग ने देश और विदेश में 200 डमी या मुखौटा कंपनियों पर ध्यान केंद्रित किया है, जिनका इस्तेमाल कथित धोखाधड़ी के हिस्से के रूप में धन को भेजने या हासिल करने में किया जाता था. इस बात का संदेह है कि इन मुखौटा कंपनियों का इस्तेमाल आरोपी धन शोधन करने और जमीन, सोना और बेशकीमती रत्नों के रूप में 'बेनामी' संपत्ति खरीदने में कर रहे थे. इसकी आयकर विभाग अब जांच कर रहा है. 

यह भी पढ़ें : पीएनबी घोटाला : आयकर विभाग ने चौकसी, गीतांजलि जेम्स के नौ बैंक खातों पर रोक लगायी
​ 
सूत्रों ने बताया कि ईडी और आयकर विभाग ने मामले की जांच के लिए विशेष दलों का गठन किया था. ईडी ने अब तक मामले में 5674 करोड़ रुपये के हीरे, सोने के जेवर और बेशकीमती रत्न जब्त किए हैं. आयकर विभाग ने कर चोरी की जांच के सिलसिले में गीतांजलि जेम्स, इसके प्रमोटर मेहुल चोकसी और अन्य के 9 बैंक खातों से लेन-देन पर कल रोक लगा दी थी. उसने नीरव मोदी, उनके परिवार के सदस्यों और उनके स्वामित्व वाले फर्मों की 29 संपत्तियां कुर्क कर ली थीं और 105 बैंक खातों से लेन-देन पर रोक लगा दी थी. 

VIDEO : पीएनबी घोटाला : परत दर परत जारी है पड़ताल 

टिप्पणियां

पीएनबी की शिकायत के बाद यह मामला सामने आने पर मोदी, चोकसी और अन्य की कई जांच एजेंसियां जांच कर रही हैं. पीएनबी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि इन लोगों ने बैंक के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से राष्ट्रीयकृत बैंक को 11 हजार 300 करोड़ रुपये का चूना लगाया. सीबीआई मामले की जांच कर रही है.

(इनपुट : भाषा)



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement