कर्नाटक में वक़्फ़ प्रॉपर्टीज के साथ हुआ 230 लाख करोड़ का घोटाला

230 लाख करोड़ का घोटाला कर्नाटक में वक़्फ़ प्रॉपर्टीज के साथ हुआ है. अनवर मणिपाड़ी रिपोर्ट हाल ही में विधानसभा के सत्र के दौरान पेश की गई.

कर्नाटक में वक़्फ़ प्रॉपर्टीज के साथ हुआ 230 लाख करोड़ का घोटाला

अनवर मणिपाड़ी रिपोर्ट हाल ही में विधानसभा के सत्र के दौरान पेश की गई.

बेंगलुरू:

230 लाख करोड़ का घोटाला कर्नाटक में वक़्फ़ प्रॉपर्टीज के साथ हुआ है. अनवर मणिपाड़ी रिपोर्ट हाल ही में विधानसभा के सत्र के दौरान पेश की गई. हालांकि रिपोर्ट 8 साल पुरानी है लेकिन इसे विधानसभा में पहुंचने से रोकने की तमाम कोशिश की गई. सभी हतकण्डे अपनाए गए. इस रिपोर्ट के मुताबिक नौकरशाहों ,नेताओं और कुछ धार्मिक संस्थओं से जुड़े लोगों की मिली भगत की वजह से अब भी तक़रीबन 100 करोड़ रुपये का नुकसान वक़्फ़ बोर्ड को हर महीने हो रहा है.

इस विवादास्पद रिपोर्ट ने कई मौजूदा और कुछ पूर्व अधिकारियों और मंत्रियों की नींद उड़ा दी है. ये रिपोर्ट 2012 में विधानसभा मे आनी चाहिए थी जब सदानंद गौड़ा मुख्यमंत्री होते थे लेकिन प्रभावशाली लोगों ने इसे यहां तक आने से रोकने में सारी ताक़त लगा दी. वक़्फ़ बोर्ड के तब के चेयरमैन अनवर मणिपाड़ी ने इसे तैयार किया था. 

यह भी पढ़ें: Karnataka Colleges Reopen: दिवाली के बाद 17 नवंबर से खुलेंगे कॉलेज, पढ़ें डिटेल

अनवर मणिपाड़ी ने कहा, ''इतने बड़े इस स्कैम में कांग्रेस पार्टी के बड़े नेता और मंत्री शामिल हैं इसमें मुस्लिम नेता भी और कांग्रेस गैर मुस्लिम नेता भी. मैं चाहता हूं कि जब तक इसकी जांच चलें तब तक वक्फ बोर्ड और इससे जुड़े सभी अधिकारी और मंत्रियों को सस्पेंडेड एनीमेशन में रखा जाए.''

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि किस तरह पुराने लीज की बुनियाद पर कैई व्यवसायिक प्रतिष्ठान मामूली किराया वक़्फ़ बोर्ड को आज भी देते हैं. बोर्ड के अधिकारियों को चुप रहने के लिए भी रिश्वत दी जाती है. आरोप ये भी है कि वक़्फ़ की कई प्रॉपर्टीज को गलत तरीके से उसकी देख रेख करने वालों और नेताओं ने अपने नाम कर हड़प लिया.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता रहमान खान ने कहा,  " देखिए मैं भी चाहता हूं इसकी जांच हो. अनवर चाहते हैं कि सीबीआई से जांच हो तो सीबीआई से ही करवा लें किसी बड़ी एजेंसी से इसकी जांच होनी जरूरी है.''

इस रिपोर्ट के मुताबिक 230 लाख करोड़ का घोटाला अब तक कर्नाटक में हुआ है और वक़्फ़ बोर्ड पास 54000 एकड़ जमीन है लेकिन इसका एक बड़ा हिस्सा हड़प लिया गया है. उप मुख्यमंत्री डॉ अश्वत्थ नारायण ने कहा, ''सरकार की नजर में यह रिपोर्ट आ गई है इस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी और जल्दी हम जरूरी एक्शन प्लान लाएंगे ताकि कार्रवाई करके वक्फ बोर्ड को उसका हक दिलाया जाए.

Newsbeep

विधानसभा के पटल पर रखी गई इस रिपोर्ट में कर्नाटक के उन तमाम बड़े मुस्लिम नेताओं के नाम है जिन्हें आप जानते और पहचानते हैं उन पर वक़्फ़ की प्रॉपर्टी गबन करने का आरोप इसमें लगाया गया है. वक़्फ़ अल्पसंख्यकों की भलाई के लिए बनाया गया लेकिन इसे लूटा और बर्बाद  भी इसी समुदाय के लोगों ने किया. कब्रिस्तान को भी नही बख्शा.

कर्नाटक में भी बारिश का कहर, कई इलाकों में जारी हुआ येलो अलर्ट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com