Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध मामले सामने आए

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध मामले सामने आए हैं. तीनों को एक विशेष वार्ड में रखा गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध मामले सामने आए

खास बातें

  1. दिल्ली में कोरोना वायरस की दस्तक
  2. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में तीन संदिग्ध
  3. अलग वार्ड में रखकर की जा रही है निगरानी
नई दिल्ली:

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध मामले सामने आए हैं. तीनों को एक विशेष वार्ड में रखा गया है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक इस बात की जानकारी अस्पताल की मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर मीनाक्षी भरद्वाज ने दी है. गौरतलब है कि  मुंबई सहित देश के कई एयरपोर्ट में कोरोना वायरस से बचाव के लिए निगरानी बरती जा रही है.वहीं बिहार के छपरा में चीन से वापस लौटी एक लड़की को आईसीयू में भर्ती कराया गया है. न्यूज एजेंसी ANI से पटना मेडिकल कॉलेज के सुपरिटेंडेंट विमल कारक ने सोमवार बताया था कि कुछ लक्षणों को देखते हुए उसे छपरा में ही भर्ती कराया गया था और अब उसे पटना लाया जा रहा है. उन्होंने बताया कि जब वह लड़की पटना मेडिकल कॉलेज में आ जाएगी तो उसके ब्लड जांच के लिए पुणे भेजा जाएगा. साथ ही आश्वासन दिया कि इस वायरस से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है. वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि नेपाल में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. इसको देखते हुए पश्चिम बंगाल में नेपाल की सीमा पर निगरानी कड़ी कर दी गई है. दूसरी ओर एयरपोर्ट स्वास्थ्य संस्था की ओर से कहा गया है कि बेंगलुरु एयरपोर्ट पर अभी तक एक भी केस कोरोना वायरस का नहीं पाया गया है. चीन से आने वाले अब तक 392 यात्रियों का परीक्षण किया गया है.


टिप्पणियां

वहीं केरल और महाराष्ट्र में 100 से अधिक लोगों को कोरोना विषाणु की चपेट में आने की आशंका के मद्देनजर चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है. इस बीच प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने चीन में घातक कोरोना विषाणु के बढ़ते मामलों को लेकर वैश्विक चिंता के बीच इससे निपटने के लिए भारत की तैयारियों की शनिवार को समीक्षा की. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि अब तक इस बीमारी का कोई सत्यापित मामला सामने नहीं आया है लेकिन चीन से लौटे सात लोगों के नमूने पुणे की आईसीएमआर-एनआईवी प्रयोगशाला में भेजे गए हैं. इससे पहले चार अन्य यात्रियों के नमूनों के परीक्षण में भी यह विषाणु नहीं पाया गया था. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... क्रिकेट मैच में विकेटकीपर बना डॉगी, बिजली की रफ्तार से गेंद पर यूं लपका, एक्ट्रेस ने शेयर किया Video

Advertisement