NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर में चट्टान गिरने से सात की मौत, 33 जख्मी 

यह जलप्रपात रियासी से दस किलोमीटर दूर तलवारा में स्थित है. घटना में सात लोगों की मौत हो गई और 33 लोग घायल हो गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर में चट्टान गिरने से सात की मौत, 33 जख्मी 

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में आज सियार बाबा जलप्रपात पर बड़ा हादसा हो गया.100 फुट ऊंचे इस जलप्रपात में चट्टान गिरने से उसमें स्नान कर रहे सात लोगों की मौत हो गई जबकि 33 अन्य घायल हो गए. रियासी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ताहिर सजाद भट ने पीटीआई-भाषा को बताया कि घटना अपराह्न करीब साढ़े तीन बजे हुई जब उत्तर भारत के बड़े जलप्रपातों में से एक सियार बाबा जलप्रपात में लोगों का एक समूह स्नान कर रहा था. यह जलप्रपात रियासी से दस किलोमीटर दूर तलवारा में स्थित है. घटना में सात लोगों की मौत हो गई और 33 लोग घायल हो गए. घायलों में से तीन की हालत नाजुक बतायी गई है. 

यह भी पढ़ें: पति को था कैंसर, पत्‍नी ने शारीरिक संबंध बनाने से किया इंकार और फिर...

भट्ट ने बताया कि घटनास्थल पर काफी संख्या में लोग रविवार की छुट्टी मनाने के लिए जमा हुए थे. इनमें से कई लोग जलप्रपात में स्नान कर रहे थे तभी घटना हुई. एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि वहां मौजूद अन्य लोग मलबे के अंदर दबे लोगों को निकालने के लिए दौड़े. पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के बचाव कर्मी जेसीबी मशीन एवं अन्य उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे. उन्होंने बताया कि कई घंटे के बचाव एवं तलाश अभियान के बाद शाम में अभियान समाप्त कर दिया गया.

यह भी पढ़ें: उमर ने कांग्रेस की आलोचना की, कहा- पीएम मोदी और शरीफ पर ट्वीट सही नहीं

टिप्पणियां
अधिकारी ने बताया कि छह मृतकों की पहचान सचिन कुमार, सन्नी कुमार, लकी, कमल शर्मा, प्रीति गुप्ता और दर्शन देवी के तौर पर हुई है. ये सभी जम्मू जिले के निवासी थे. उन्होंने बताया कि सातवें मृतक की पहचान का पता लगाया जा रहा है. जख्मी में से अधिकतर जम्मू जिले से हैं. अधिकारियों ने बताया कि जख्मी लोगों में उत्तर प्रदेश के अशोक कुमार और उनका पांच वर्ष का बेटा भी शामिल है. अधिकारी ने बताया कि घायलों में आठ लड़के और लड़कियों तथा सात महिलाएं शामिल हैं. उन्होंने कहा कि जख्मी लोगों को निजी कारों से रियासी जिले के अस्पताल पहुंचाया गया.

VIDEO: बच्चा चोरी के आरोप में हत्या.

राज्यपाल एन. एन. वोहरा ने इस दुर्घटना में लोगों की मौत पर दुख जताया है और श्री माता वैष्णो देवी मंदिर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी धीरज गुप्ता से जख्मी लोगों के उपचार पर आए पूरे खर्च को मंदिर बोर्ड की तरफ से वहन करने के लिए कहा.गुप्ता ने राज्यपाल को बताया कि ककरियाल में मंदिर के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 31 लोगों का उपचार चल रहा है. इनमें से तीन लोगों की स्थिति ‘‘गंभीर’’है. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement