गुप्ता परिवार की 200 करोड़ रुपये की शादी, छोड़ गए 40 क्विटंल का कचरा, सफाई में छूटे नगर निकाय के पसीने

इस शादी में कटरीना कैफ, योग गुरु बाबा रामदेव जैसी कई हस्तियों ने शिरकत की थी.

गुप्ता परिवार की 200 करोड़ रुपये की शादी, छोड़ गए 40 क्विटंल का कचरा, सफाई में छूटे नगर निकाय के पसीने

20 लोगों की टीम को कचरे से की समस्या से निपटने की जिम्मेदारी दी गई है.

खास बातें

  • सफाई के लिए लगाई गई 20 लोगों की टीम
  • कई नामचीन हस्तियों ने की थी शादी में शिरकत
  • शादी को लेकर दायर हुई जनहित याचिका
देहरादून:

उत्तराखंड के औली शहर की नगर निकाय 200 करोड़ रुपये की शादी के बाद अब वहां पर पड़े कचरे को साफ करने की समस्या से जूझ रही है. भारतीय मूल के साऊथ अफ्रीका के विवादित कारोबारी गुप्ता परिवार की यह शादी थी. अतुल गुप्ता के बेटे शशांक का विवाह में शशांक का विवाह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त एक स्की रिसॉर्ट में दुबई के रियल्टी कारोबारी विशाल जालान की बेटी शिवांगी के साथ हुआ. वहीं, इसी स्थल पर दो ही दिन पहले शशांक के चचेरे भाई सूर्यकांत का भी विवाह हुआ था. इस शादी को लेकर एक जनहित याचिका भी दाखिल की गई थी, जिसमें कहा गया था कि शादी की तैयारियां पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रही हैं.

इस शादी में कटरीना कैफ, योग गुरु बाबा रामदेव जैसी कई हस्तियों ने शिरकत की. रामदेव ने शादी में दो घंटे का योग सत्र भी आयोजित किया. मेहमानों को लाने ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर किराए पर लिए गए थे. 

माउंट एवरेस्ट पर मिला 11 टन कचरा, करोड़ों में साफ की जा रही है दुनिया के सबसे ऊंची चोटी

लगभग सभी होटल और रिसॉर्ट बुक कर लिए गए थे और स्विट्जरलैंड से फूल मंगलवाए गये थे. नगरपालिका परिषद जोशीमठ के सुपरवाइजर अनिल और उनके साथ 20 लोगों की टीम को कचरे से की समस्या से निपटने की जिम्मेदारी दी गई है. टीम एक सदस्य ने बताया, 'इस हिल स्टेशन पर शादी के बाद कचरा फैला हुआ है, करीब 40 क्विंटल से ज्यादा कचरा हो गया है.'

एक स्थानीय ने बताया, 'हर जगह प्लास्टिक के पैकेट और बोतलें पड़ी हैं. हमारी गायें रोजाना इस क्षेत्र में चरती हैं. क्या होगा अगर वे प्लास्टिक खा जाएंगी तो. कौन जिम्मेदारी लेगा? यहां स्थिति वास्तव में दयनीय है.'

कुंभ का कचरा बन रहा इलाहाबादियों के लिए मुसीबत और अधिकारियों के लिए कमाई का जरिया

बता दें, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और योग गुरु रामदेव समेत कई अतिविशिष्ट लोग इस शादी में शामिल हुए थे. मुख्यमंत्री ने नवविवाहित युगल को आशीर्वाद दिया और औली को विवाह स्थल के रूप में चुनने के लिये गुप्ता को धन्यवाद दिया था. उन्होंने कहा था कि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ ही विवाह स्थल के रूप में भी औली को बढ़ावा मिलेगा. अन्य अतिविशिष्ट लोगों में अध्यात्मिक गुरू स्वामी चिदानंद सरस्वती और भाजपा के राज्य प्रमुख एवं नैनीताल के सांसद अजय भट्ट भी शामिल रहे.


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com