सुपर साइक्‍लोन अम्‍फान के प्रभाव से उठ रही 5 मीटर ऊंची लहरें, इस घंटे से जुड़ीं 5 खास बातें..

Super Cyclone Amphan Update:चक्रवाती तूफान 'अम्फान' के असर के कारण ओडिशा और बंगाल के कुछ हिस्सों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. इस तूफान के बुधवार शाम 4 से 6 बजे के बीच बंगाल से टकराने की संभावना है.

सुपर साइक्‍लोन अम्‍फान के प्रभाव से उठ रही 5 मीटर ऊंची लहरें, इस घंटे से जुड़ीं 5 खास बातें..

अम्‍फान की तुलना वर्ष 1999 में ओडिशा में आए भीषण तूफान से की जा रही है

नई दिल्ली: Super Cyclone Amphan Update: चक्रवाती तूफान 'अम्फान' के असर के कारण ओडिशा और बंगाल के कुछ हिस्सों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. इस तूफान के बुधवार शाम 4 से 6 बजे के बीच बंगाल से टकराने की संभावना है. प्रचंड चक्रवातीय तूफान ‘अम्फान' के कारण होने वाली तबाही को ध्यान में रखते हुए एनडीआरएफ ने जानमाल की हानि/क्षति रोकने के लक्ष्य से बल की 53 टीमें तैनात की हैं.रिकॉर्ड्स रखे जाने के बाद से यह पूर्वोत्तर हिंद महासागर में बनने वाला यह दूसरा "सुपर साइक्लोन" है और इसे हाल के वर्षों में बंगाल की खाड़ी के सबसे भीषण तूफानों में से एक बताया जा रहा है.

तूफान अम्‍फान से जुड़ी इस घंटे की पांच खास बातें..

  1. भारतीय मौसम विभाग (IMD) की दोपहर एक बजे की बुलेटिन के अनुसार, अम्‍फान बुधवार दोपहर पश्चिम बंगाल की दीघा शहर से 95 किलोमीटर दूर, बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी के ऊपर "बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान" के रूप में केंद्रित था.

  2. 'अम्फान' का उच्‍चारण उम-पन के रूप में किया जाता है. यह सुंदरवन के पास, दीघा और हटिया द्वीप के बीच, पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तट को शाम 4 बजे के आसपास छुएगा. इसके असर के कारण 155-165 किलोमीटर प्रति घंटे की हवा की गति से तेज हवा चल सकती है.

  3. एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान के अनुसार, अम्‍फान के खतरे के मद्देनजर लगभग पांच लाख लोगों को बंगाल और ओडिशा में सुरक्षा के लिए निकाला गया है. उन्‍होंने NDTV से बातचीत में इस तूफान को "दोहरी चुनौती" करार दिया और कहा कि कोरोना वायरस की महामारी के कारण राहत कार्य चलाते समय सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पालन करना होगा. जिन शेल्‍टर होम में करीब एक हजार लोगों को रखने की क्षमता है, वहां कोराना के खतरे के मद्देनजर इससे आगे लोग ही रखे जाएंगे.

  4. भारतीय नौसेना भी बंगाल की खाड़ी में अम्‍फान की स्थिति पर नजर बनाए हुए है. आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में नौसेना के जहाजों को स्टैंडबाय पर रखा गया है.