NDTV Khabar

गाजियाबाद सीवरेज मौत मामले में बड़ी कार्रवाई, जल निगम के 4 अधिकारियों को किया गया निलंबित

सीवर सफाई करने उतरे जलकल निगम के प्राइवेट 5 कर्मचारियों की मौत पांचों कर्मचारियों की मौत के बाद प्रशासन नहीं जागा है. दरअसल मामला गाजियाबाद के सिहानी गेट थाना क्षेत्र के नंद ग्राम कृष्णा कुंज कॉलोनी का है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गाजियाबाद सीवरेज मौत मामले में बड़ी कार्रवाई, जल निगम के 4 अधिकारियों को किया गया निलंबित

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

गाजियाबाद सीवरेज मौत मामले में बड़ी कार्रवाई की गई, जल निगम के 4 अधिकारियों को निलंबित किया गया. 
प्रथमदृष्टया लापरवाही सामने आने पर निलंबन की कार्रवाई की गई. कृष्ण मोहन यादव (जीएम), रविंद्र सिंह (एक्सईएन), प्रवीण कुमार (एई) और अजमत अली (जेई) को सस्पेंड किया गया. ठेकेदार फर्म के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर ब्लैकलिस्ट करने के आदेश जारी किया जा चुका है. दरअसल मामला गाजियाबाद के सिहानी गेट थाना क्षेत्र के नंद ग्राम कृष्णा कुंज कॉलोनी का है. तकरीबन 80 करोड़ की लागत से अमृत योजना के तहत बनाया जा रहा सीवर लाइन में हादसा हुआ. 5 लोगों की मौत के बाद नगर निगम और जलकल विभाग एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ रहे थे.

दिल्ली यूनिवर्सिटी में NSUI कार्यकर्ताओं ने सावरकर की प्रतिमा पर पोती कालिख, पहनाई जूतों की माला


मरने वालों में 4 लोग बिहार के है तो वहीं एक व्यक्ति गाजियाबाद का ही रहने वाला बताया जा रहा है. पहले एक कर्मचारी सीवर सफाई करने के लिए नीचे उतरा और जहरीली गैस होने की वजह से नीचे ही बेहोश हो गया. इसी क्रम में एक के बाद एक कुल 5 कर्मचारी नीचे उतरे लेकिन सभी जहरीली गैस की चपेट में आ गए और सभी नीचे बेहोश हो गए.

पी चिदंबरम के मामले में आज कोर्ट में क्या-क्या हुआ? पढ़ें दोनों पक्ष के वकीलों की बातचीत

टिप्पणियां

बाद में सभी को कड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया. आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां पर डॉक्टर ने सभी को मृत घोषित कर दिया. आसपास के लोगों के मुताबिक यह किसी भी तरह का कोई सेफ्टी का प्रबंध मसलन मास्क, जैकेट आदि समान इन कर्मचारियों को नहीं दिया गया था.

Video: कब तक गटर में उतरना पड़ेगा गरीब इंसान को?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement