NDTV Khabar

1993 से 2015 गुरदासपुर तक भारतीय इतिहास के पांच सबसे बड़े आतंकी हमले

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
1993 से 2015 गुरदासपुर तक भारतीय इतिहास के पांच सबसे बड़े आतंकी हमले

सुरक्षा कारणों से NDTV ऑपरेशन की ताजा तस्वीरें इस्तेमाल नहीं कर रहा है

नई दिल्‍ली :

पंजाब के गुरदासपुर में हुए आतंकी हमले ने एक बार फिर देश में आतंकी खतरे का बड़ा संकेत दिया है। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ जब आतंकियों ने ऐसे नापाक हमलों से मुल्‍क को डराने की कोशिश की हो। भारत काफी पहले से आतंकवाद का दंश झेलता रहा है। आइये आपको बताते हैं भारत में हुए पांच बड़े आतंकी हमलों के बारे में...

1. मुंबई 26/11 आतंकी हमला : साल 2008 में 26 नवंबर को लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकी समुद्री रास्ते से मुंबई में दाखिल हुए और उन्‍होंने अलग-अलग जगहों पर 164 बेगुनाह लोगों की जान ले ली। इस भीषण हमले में 308 लोग जख्मी भी हुए। इस हमले में जिंदा पकड़े गए एकमात्र कसूरवार आतंकी अजमल कसाब को बाद में फांसी दे दी गई।

2. 11 जुलाई 2006 मुंबई ट्रेन ब्‍लास्‍ट : इस दिन महानगर में मुंबई की लोकल ट्रेनों में 7 सीरियल बम धमाके हुए। यह 1993 के बाद मुंबई में हुआ बड़ा आतंकी हमला था। सभी धमाके लोकल ट्रेनों के फर्स्‍ट क्‍लास कोच में प्रेशर कुकर में प्‍लांट किए गए थे। जांच के बाद पाया गया कि इस हमले में प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन का हाथ था।


3. 29 अक्‍टूबर 2005 दिल्‍ली सीरियल ब्‍लास्‍ट : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुए इन सीरियल बम धमाकों ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा ने दिल्ली में तीन जगह धमाके किए और सैंकड़ों परिवारों की दिवाली को काला कर दिया। दिल्‍ली की पहाड़गंज मार्किट, सरोजिनी नगर मार्किट और गोविंदपुरी में हुए इन बम ब्लास्ट में 62 लोग मारे गए और करीब 210 घायल हुए थे।

टिप्पणियां

4. अक्षरधाम हमला : 24 सितंबर 2002 को लश्‍कर ए तैयबा और जैश-ए-मोहम्‍मद के दो आतंकियों ने गुजरात के गांधी नगर में अक्षरधाम मंदिर पर हमला किया। इन आतंकियों ने मंदिर में हथियार और हथगोलों से लोगों की जानें लीं। रात में एनएसजी के कमांडों ने ऑपरेशन में उक्‍त आतंकियों को मार गिराया था। इस हमले में 30 लोग मारे गए थे।

5. 2 मार्च 1993 मंबई बम ब्‍लास्‍ट : इन धमाकों का खौफ आज भी शहर के सीने में जिंदा हैं। इस दिन शहर में 12 जगहों पर सिलसिलेवार बम धमाके हुए। इनमें न केवल 257 की जानें गईं, जबकि 713 लोग जख्‍मी भी हुए। इन धमाकों के दोषी 53 वर्षीय याकूब मेमन के नाम मुंबई की टाडा कोर्ट ने फांसी का वारंट जारी कर दिया है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement