NDTV Khabar

कश्मीर : उड़ी सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे पांच आतंकियों को सेना ने मार गिराया

पिछले 72 घंटे में सेना ने 12 आतंकियों को मार गिराया है. कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्‍टर में एलओसी के पास गुरुवार को सेना ने तीन आतंकी मार गिराए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर : उड़ी सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे पांच आतंकियों को सेना ने मार गिराया

भारतीय सेना को उड़ी में गुरुवार शाम से ही एलओसी पर आतंकियों की संदिग्ध हरकत दिखी थी... (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शुक्रवार को जैसे ही मौसम खुला तो सेना का आतंकियो के साथ आमना-सामना हुआ.
  2. सेना ने मौके पर ही पांच आतंकियों को ढेर कर दिया.
  3. पिछले 72 घंटे में सेना ने 12 आतंकियों को मार गिराया है.
नई दिल्‍ली: कश्मीर के उड़ी सेक्टर में सेना ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे पांच आतंकियों को मार गिराया है. भारतीय सेना को कल शाम से ही एलओसी पर आतंकियों की संदिग्ध हरकत दिखी थी. सेना के चौकन्ने जवान गुरुवार से ही उनपर नजर बनाए हुए थे, लेकिन वहां पर मौसम खराब होने की वजह से सफलता नहीं मिली. शुक्रवार को जैसे ही मौसम खुला तो सेना का आतंकियो के साथ आमना-सामना हुआ. सेना ने मौके पर ही पांच आतंकियों को ढेर कर दिया. हथियार के साथ आतंकियों के शव भी बरामद कर लिए गए हैं.

पिछले 72 घंटे में सेना ने 12 आतंकियों को मार गिराया है. कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्‍टर में एलओसी के पास गुरुवार को सेना ने तीन आतंकी मार गिराए. इस कार्रवाई में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया. इससे पहले सेना ने बुधवार को माछिल सेक्टर में घुसपैठ की फिराक में लगे चार आतंकियों को मार गिराया था. ध्यान रहे सेना ने एक दर्जन आतंकियों को एलओसी पर ही मार गिराया है. सेना ने पांच आतंकी उड़ी में, चार माछिल में और आज नौगाम में तीन आतंकी मार गिराए. तीनों जगहों में आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे.

आपको ये बता दें कि 26 मई को उड़ी सेक्‍टर में ही सेना ने पाक बॉर्डर एक्शन टीम यानि बैट के दो आतंकियों को मारा था. बैट के आतंकियों ने ही एलओसी पर भारतीय जवानों को घात लगाकर मारने के साथ उनके शव-विक्षत कर दिए थे. उड़ी सेक्‍टर से सटे रामपुर सेक्‍टर में 27 मई को ही सेना ने छह आतंकी मार गिराए थे.

टिप्पणियां
पिछले साल सितंबर में ही आतंकियों ने उड़ी के सेना कैंप पर हमला किया गया था, जिसमें सेना के 19 जवान शहीद हुए थे. उसके बाद ही सेना ने आतंकियों के लॉन्चिंग पैड पर हमला किया था. 

उड़ी के जरिये घुसपैठ करने की प्रमुख वजहें... 
 
  • यहां से घुसपैठ करना बहुत आसान है.
  • बस नाला पार कर घुसपैठ की जा सकती है.
  • उड़ी के चारों तरफ एलओसी है.
  • इसके अलावा यहां से मुजफ्फराबाद महज दो किलोमीटर दूर है जो आतंकियों का गढ़ है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement