NDTV Khabar

कोहरे की वजह से फ्लाइओवर पर एक के बाद एक टकराई 50 गाड़ियां, आठ की मौत, कई घायल, मुआवजे का ऐलान

सड़क हादसे में 6 महिलाओं समेत कुल 8 लोगों की मौत की खबर आ रही है. जबकि कई गंभीर रूप से घायल हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रोहतक:

हरियाणा में रोहतक-रेवाड़ी हाइवे पर एक भीषण सड़क हादसा (Road Accident) हुआ है. सुबह घने कोहरे की वजह से एक फ्लाईओवर पर एक के बाद एक 50 गाड़ियां आपस में टकरा गईं. इस घटना में छह महिलाओं समेत कुल आठ लोगों के मारे (Eight Died in Road Accident) जाने की खबर है. जबकि कई अन्य गंभीर रूप से घायल हुए हैं. घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस (Haryana Police) ने सभी घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उनका इलाज चल रहा है. वहीं मृतकों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. घटना की वजह से हाइवे पर करीब दो किलोमीटर का जाम लग गया है. पुलिस फिलहाल इस पूरे मामले की जांच कर रही है.

हरियाणा सरकार ने इस हादसे के बाद मुआवजे का ऐलान किया है. राज्य सरकार की तरफ से मृतकों को दो-दो लाख रुपये, जबकि गंभीर रूप से घायल लोगों को एक लाख और मामूली रूप से घायल होने वालों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे.


गौरतलब है कि इससे पहले झांसी-सागर फोरलाइन हाईवे 26 पर मालथौन के निकट कुछ दिन पहले ही आमने-सामने से टवेरा कार और हाईवा ट्राला की टक्कर में कई लोगों की मौत हो गई थी. इस हादसे में कार में सवार तीन बच्चों सहित नौ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी. जबकि अन्य छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे. हादसे की सूचना मिलने के बाद घायलों को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र मालथौन में भर्ती कराया गया था. वहां उनको प्राथमिक उपचार के उपरांत सागर भेज दिया गया.पुलिस के अनुसार यूपी के ललितपुर से सागर के लिए टवेरा कार में सवार होकर कुछ लोग ओली फलदान के कार्यक्रम में जा रहे थे. इस दौरान मालथौन थाना क्षेत्र के तहत मांदरी फाटक के पास हाइवे ट्राला से कार की भिड़ंत हो गई थी. इस भीषण टक्कर में नौ लोगों की मौके पर मौत हो गई. हादसे की सूचना मिलने पर क्षेत्र के पुलिस कर्मी सहित अनुविभागीय अधिकारी मौके पर पहुंचे. मृतकों के शवों को अस्पताल भेजा गया था.

यह भी पढ़ें: गुजरात: भावनगर-अहमदाबाद हाईवे पर ट्रक पलटने से 19 की मौत, 7 घायल

वहीं कुछ वर्ष पहले भी घने कोहरे की वजह से कम से कम 30 गाड़ियां आपस में टकरा गईं थी. इस हादसे में एक कार में सवार चार लोगों के मारे जाने की ख़बर आई थी. हाइवे पैट्रोल अधिकारी मनोज कुमार ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया थी कि सड़क पर एक ट्रक खराब हो गया था, और उसे पीछे से एक गाड़ी ने टक्कर मार दी. उसके बाद कोहरे की वजह से कम से कम 30-40 गाड़ियां एक-दूसरे से टकराती चली गईं. बता दें कि घने कोहरे व धुंध की चादर में लिपटी देश की राजधानी दिल्ली व आसपास रविवार को न्यूनतम तापमान 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. 'गंभीर' वायु गुणवत्ता के साथ दिसंबर का यह सबसे ठंडा दिन है.

यह भी पढ़ें: कोहरे का कहर : चीन में एक्सप्रेसवे पर हुई दुर्घटना में 18 लोगों की मौत, 19 अन्य घायल

मौसम विभाग के अनुसार कई इलाकों में सुबह 8.30 बजे दृश्यता 500 मीटर और आद्रराता का स्तर 94 फीसदी रहा. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, सुबह आठ बजे कणिरा तत्व (पीएम) 2.5 और पीएम10 के स्तर के साथ दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 441 रहा. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने कहा कि आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए हैं. दोपहर में भी धुंध छाए रहने के आसार हैं.अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली में ट्रक का तांडव, 14 वाहनों को टक्कर मारी, 8 लोग घायल

आईएमडी के एक अधिकारी ने बताया कि पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में कढ़ाके की ठंड है. इन राज्यों में सुबह के समय घना कोहरा छा रहा है जिससे सड़क पर लोगों को चलने में खासी दिक्कत हो रही है. ध्यान हो कि शनिवार को अधिकतम तापमान 21.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ जबकि न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ जो औसत से चार डिग्री कम है.  

 

टिप्पणियां

 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement