NDTV Khabar

देश की 62 फीसदी आबादी कामकाजी आयुवर्ग से, यह चुनौती भी और अवसर भी : उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू

नायडू ने कहा कि तेजी से बदलती दुनिया में नवोन्मेष आवश्यक है. उन्होंने कहा कि स्किल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया और मेक इन इंडिया जैसी सरकार की पहलें देश में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए माहौल तैयार करने में मददगार साबित हुई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
देश की 62 फीसदी आबादी कामकाजी आयुवर्ग से, यह चुनौती भी और अवसर भी : उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू

उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू (फाइल फोटो)

हैदराबाद:

उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने बुधवार को कहा कि भारत दुनिया के सबसे युवा देशों में से एक है जहां की करीब 62 फीसदी आबादी कामकाजी आयुवर्ग से है. उन्होंने कहा कि युवा आबादी एक चुनौती होने के साथ-साथ अवसर भी है. उप राष्ट्रपति यहां 2017 एंटरप्रेन्योर्स ऑर्गेनाइजेशन ग्लोबल यूनिवर्सिटी कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘15 से 59 वर्ष आयुवर्ग की 62 फीसदी आबादी के साथ भारत दुनिया के सबसे युवा देशों में से एक है.

यहां की लगभग 54 फीसदी आबादी 25 वर्ष से कम आयुवर्ग की है. यह एक बडी चुनौती है और एक बहुत बड़ा अवसर भी. ’ इस सम्मेलन की थीम ‘जुगाड़’ थी.

यह भी पढ़ें : भारी भरकम एनपीए के लिए गरीब नहीं, बड़े लोग जिम्मेदार : वेंकैया नायडू


नायडू ने कहा कि तेजी से बदलती दुनिया में नवोन्मेष आवश्यक है. उन्होंने कहा कि स्किल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया और मेक इन इंडिया जैसी सरकार की पहलें देश में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए माहौल तैयार करने में मददगार साबित हुई हैं.

टिप्पणियां


 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement