कोरोना पॉ‍जिटिव 8 माह के बच्‍चे को इलाज के लिए करनी पड़ी 400KM की यात्रा, नहीं बच सकी जान

अस्पताल पहुंचने पर जांच के लिये बच्चे के नमूने लिये गए.जांच रिपोर्ट में बच्चे के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई.शाम को उसकी मौत हो गई.'''' उन्होंने कहा कि बच्चे के माता-पिता और वाहन चालक कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाए गए हैं.

कोरोना पॉ‍जिटिव 8 माह के बच्‍चे को इलाज के लिए करनी पड़ी 400KM की यात्रा, नहीं बच सकी जान

अस्‍पताल पहुंचने के कुछ ही घंटों बाद बच्‍चे की मौत हो गई (प्रतीकात्‍मक फोटो)

शिलांग:

Covid-19 Pandemic: इलाज के लिये अरुणाचल प्रदेश से मेघालय तक लगभग 400 किलोमीटर का सफर करने वाले 8 महीने के एक बच्चे ने कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के कुछ ही घंटों बाद दम तोड़ दिया. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि बच्चे को कुछ बीमारियों के इलाज के लिये अरुणाचल प्रदेश के तोमो रिबा इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल सांइसेज से यहां नॉर्थ ईस्टर्न इंदिरा गांधी रीजनल इंस्टिट्यूट ऑफ हैल्थ एंड मेडिकल साइंसेज (एनईआईजीआरआईएचएमएस) भेजा गया था. बच्चे के माता-पिता उसे सड़क मार्ग से शिलांग ले कर आए थे. वे सोमवार को तड़के अस्पताल पहुंच गए थे.

मेघालय के स्वास्थ्य मंत्री एएल हेक ने कहा, ''''उनके अस्पताल पहुंचने पर जांच के लिये बच्चे के नमूने लिये गए.जांच रिपोर्ट में बच्चे के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई.शाम को उसकी मौत हो गई.'''' उन्होंने कहा कि बच्चे के माता-पिता और वाहन चालक कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाए गए हैं. अधिकारियों ने कहा कि मेघालय में कोविड-19 से हुई यह दूसरी मौत है.पहली मौत 15 अप्रैल को हुई थी. राज्य में अब तक 89 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 44 का इलाज चल रहा है और 43 लोग ठीक हो गए हैं.दो रोगियों की मौत हो चुकी है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com