'स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी' को देश के विभिन्न क्षेत्रों से जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे PM मोदी

अहमदाबाद से केवड़िया के बीच शुरू होने वाली ट्रेन जन शताब्दी एक्सप्रेस होगी जिसमें विस्टाडोम कोच लगे होंगे. पर्यटक इन कोचों को जरिए वहां के प्राकृतिक नजारे के आनंद उठा सकेंगे.

'स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी' को देश के विभिन्न क्षेत्रों से जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज आठ ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे.

नई दिल्ली:

गुजरात के केवड़िया स्थित ‘‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी''देखने के लिए देश के विभिन्न भागों से लोगों की आवाजाही सुगम बनाने के मकसद से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को सुबह 11 बजे आठ रेलगाड़ियों को हरी झंडी दिखाएंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक ये रेलगाड़ियां केवड़िया को वाराणसी, दादर, अहमदाबाद, हजरत निजामुद्दीन, रीवा, चेन्नई और प्रतापनगर से जोड़ेंगी. अहमदाबाद से केवड़िया के बीच शुरू होने वाली ट्रेन जन शताब्दी एक्सप्रेस होगी जिसमें विस्टाडोम कोच लगे होंगे. पर्यटक इन कोचों को जरिए वहां के प्राकृतिक नजारे के आनंद उठा सकेंगे.

वीडिया कांफ्रेंस से आयोजित होने वाले इस समारोह के दौरान प्रधानमंत्री दभोई-चांचोड़ आमान परिवर्तन, चांचोड़-केवड़िया आमान परिवर्तन नवनिर्मित प्रतापनगर-केवड़िया खंड के विद्युतीकरण और दभोई, चांचोड़ और केवड़िया स्टेशनों की नयी इमारतों का उद्घाटन भी करेंगे. गुजरात में रेल से जुड़ी इन परियोजनाओं के उद्घाटन के मौके पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और रेल मंत्री पीयूष गोयल भी उपस्थित रहेंगे.


पीएमओ ने एक बयान में कहा कि इन रेलवे स्टेशनों को स्थानीय विशेषताओं और आधुनिक यात्री सुविधाओं से लैस किया गया है. केवड़िया देश का पहला स्टेशन है जिसे हरित इमारत होने का प्रमाण पत्र मिला है. बयान में कहा गया, ‘‘इन परियोजनाओं से निकटवर्ती जनजातीय इलाकों में विकास कार्यों को गति मिलेगी, नर्मदा नदी के तटों पर स्थित महत्‍वपूर्ण धार्मिक और प्राचीन तीर्थस्‍थलों तक संपर्क कायम किया जा सकेगा, घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और यह क्षेत्र के समूचे सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए महत्‍वपूर्ण साबित होगा.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएमओ ने कहा कि इसके साथ-साथ इससे नये रोजगार और व्‍यावसायिक अवसरों के विकास में भी मदद मिलेगी



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)