Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

ग्रेटा थुनबर्ग से मिली 8 साल की ये बच्‍ची, पीएम मोदी से की जलवायु परिवर्तन कानून लागू करने की मांग

लिसी ने कहा, ''मैं उनसे और सभी सांसदों से आग्रह करती हूं कि वो अब जलवायु परिवर्तन पर कार्रवाई करें और हमारे भविष्य को बचाएं. समुद्र का स्तर बढ़ रहा है और पृथ्वी गर्म होती जा रही है. उन्हें अब इस पर कड़े कदम उठाने चाहिए''.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ग्रेटा थुनबर्ग से मिली 8 साल की ये बच्‍ची, पीएम मोदी से की जलवायु परिवर्तन कानून लागू करने की मांग

जलवायु परिवर्तन कार्यक्रम में ग्रेटा थुनबर्ग से मिली मणिपुर की लिसी प्रिया.

खास बातें

  1. मणिपुर की 8 साल की लिसी प्रिया ने ग्रेटा थुनबर्ग से की मुलाकात
  2. लिसी प्रिया ने अपने ट्विटर पर ग्रेटा के साथ अपनी तस्वीर शेयर की
  3. इसके साथ उसने पीएम मोदी से जलवायु परिवर्तन कानून लागू करने की भी मांग की
नई दिल्ली:

मणिपुर की लिसी प्रिया कंगुजम (Licypriya Kangujam) ने पीएम मोदी से देश में जलवायु परिवर्तन कानून (Climate Change Law) को लागू करने और संसद में चल रहे शीतकालीन सत्र में इसे पारित कराए जाने की मांग की है. 8 साल की लिसी प्रिया ने 6 दिसंबर को एक ट्वीट करते हुए लिखा था, ''कृप्या हमारे भविष्य को बचा लें. मैं अपनी इंस्पीरेशन ग्रेटा थुनबर्ग के साथ हूं ताकि मैं आप पर और विश्व के अन्य नेताओं पर कुछ दबाव डाल सकूं. आप हमें कम नहीं आंक सकते. कृप्या जलवायु परिवर्तन कानून को संसद में चल रहे शीतकालीन सत्र में पारित कराएं''.  

यह भी पढ़ें: ग्रेटा थुनबर्ग की तरह दिखती है ये लड़की, वायरल हो रही है 120 साल पुरानी तस्वीर

पिछले काफी वक्त से लिसी प्रिया कंगुजम अपने इस अभियान को लेकर चर्चाओं में है. वह कई जागरुकता अभियानों, रैलियों के आयोजन और प्राकृतिक आपदाओं के पीड़ितों की मदद कर चुकी हैं. हाल ही में लिसी ने स्वीडिश जलवायु परिवर्तन कार्यकर्ता ग्रेटा थुनबर्ग (Greta Thunberg) के साथ स्पेन के मैड्रिड में आयोजित जलवायू परिवर्तन को लेकर एक कार्यक्रम में शिरकत की थी. 


आपको बता दें, इस साल जून में लिसी ने संसद परिसर के पास खड़े रहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जलवायु परिवर्तन को लेकर कड़े कदम उठाने की गुहार लगाई थी. तब लिसी ने एएनआई से बात करते हुए कहा था, ''मैं उनसे और सभी सांसदों से आग्रह करती हूं कि वो अब जलवायु परिवर्तन पर कार्रवाई करें और हमारे भविष्य को बचाएं. समुद्र का स्तर बढ़ रहा है और पृथ्वी गर्म होती जा रही है. उन्हें अब इस पर कड़े कदम उठाने चाहिए''.

लिसी ने कई अंतरराष्ट्रीय प्लेटफार्मों पर जलवायु परिवर्तन को लेकर चिंता व्यक्त की है. इस दौरान उन्‍होंने विश्व नेताओं से जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर कार्रवाई करने और प्राकृतिक आपदाओं को कम करने का आग्रह भी किया. वह अपने काम के लिए पहचानी गई हैं और उसे विश्व बाल शांति पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया गया है.

टिप्पणियां

लिसी प्रिया कंगुजम ''द चाइल्ड मूवमेंट'' की संस्थापक भी हैं. यह बच्चों द्वारा वैश्विक मुद्दों पर अपनी आवाज उठाने के लिए एक स्वैच्छिक आंदोलन है. 

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने भी जलवायु परिवर्तन को लेकर सितंबर में आयोजित संयुक्त राष्ट्र जलवायु कार्रवाई शिखर सम्मेलन 2019 (United Nations Climate Action summit 2019) में जलवायु परिवर्तन को लेकर आवाज उठाई थी. उन्होंने यहां अपने संबोधन के दौरान कहा था कि, ''भारत संयुक्त राष्ट्र में इस मुद्दे पर एक व्यावहारिक दृष्टिकोण और रोडमैप पेश करने के लिए आया है''. उन्होंने कहा, लालच नहीं बल्कि जरूरत हमारा मार्गदर्शक सिद्धांत है. भारत आज इस मुद्दे की गंभीरता के बारे में बात करने के लिए नहीं बल्कि व्यावहारिक दृष्टिकोण और एक रोडमैप प्रस्तुत करने के लिए है. हम मानते हैं कि इस बारे में पढ़ाने और समझाने से ज्यादा जरूरी इस पर काम करना है''. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार को बताया BJP का 'पिछलग्गू', इस आरोप में कितना है दम?

Advertisement