NDTV Khabar

राजस्थान में 87 जजों का तबादला, सलमान को सजा देने वाले और बेल अर्जी पर सुनवाई कर रहे जज का भी हुआ ट्रांसफर

राजस्थान हाईकोर्ट प्रशासन ने बड़ा फेर बदल करते हुए एक साथ 87 जजों का तबादला कर दिया है.

1.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजस्थान में 87 जजों का तबादला, सलमान को सजा देने वाले और बेल अर्जी पर सुनवाई कर रहे जज का भी हुआ ट्रांसफर

सलमान खान जोधपुर सेंट्रल जेल में

खास बातें

  1. राजस्थान में 87 जजों का तबादला.
  2. सलमान को सजा देने वाले जज भी ट्रांसफर.
  3. जमानत याचिका पर सुनवाई कर रहे जज का भी तबादला.
जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट प्रशासन ने बड़ा फेरबदल करते हुए एक साथ 87 जजों का तबादला कर दिया है. काला हिरण शिकार मामले में बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को 5 साल की सजा देने वाले जज देव कुमार खत्री और उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई कर रहे जज रवींद्र कुमार जोशी का भी तबादला हो गया है. बताया जा रहा है कि राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश के बाद न्यायिक अधिकारियों का बड़े लेवल पर तबादला किया गया है. इस तबादले को रूटीन तबादला बताया जा रहा है. 

सलमान खान की जमानत याचिका पर सुनवाई कर रहे जोधपुर सेशन कोर्ट के जज रवींद्र कुमार जोशी के तबादले के बाद अब उम्मीद की जा रही है कि सलमान की जमानत याचिका पर सुनवाई में देरी हो सकती है, क्योंकि ऐसी संभावना थी कि जज रवींद्र कुमार जोशी सलमान खान की जमानत याचिका पर शनिवार को फैसले सुना सकते थे.

हालांकि, जज के तबादले की प्रक्रिया में सात दिन लगते हैं यानी दूसरे जगह का कार्यभार संभालने में जज को सात दिन का वक्त होता है, तब तक वह पहले के पद पर बने रहते हैं. इस तरह से सलमान खान की जमानत याचिका की सुनवाई कर रहे जज रवींद्र कुमार जोशी अभी भी इस केस की सुनवाई करेंगे क्योंकि अभी तक वह जोधपुर कोर्ट से कार्यमुक्त नहीं हुए हैं. 

आज भी जज जोशी अन्य दिनों की ड्यूटी की तरह कोर्ट आएंगे और मामलों की सुनवाई करेंगे. साथ ही यह उनके हाथ में है, चाहें तो वह आज ही मामले की सुनवाई कर फैसला दे सकते हैं या फिर नहीं भी दे सकते हैं. क्योंकि जमानत की अर्जी को अर्जेंट माना जाता है. 

सलमान की जमानत पर सुनवाई कर रहे जज जोशी का जोधपुर से सिरोह में ट्रांसफर किया गया है. उनकी जगह अब भिलवाड़ा के जज चंद्र कुमार सोंगरा लेंगे. वहीं, जज खत्री की जगह समरेंद्र सिंह सिकारवार लेंगे, जो उदयपुर में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हैं. 

सलमान खान की जमानत पर फैसला अब शनिवार को, इस केस से जुड़ी अब तक की 20 बड़ी बातें

बता दें कि अभियोजन पक्ष के वकील महिपाल विश्नोई ने बताया कि अदालत ने सलमान खान की जमानत याचिका पर दोनों पक्षों की दलीलें सुनीं. अदालत ने अधीनस्थ अदालत का रिकॉर्ड तलब करने के बाद सुनवाई कल तक के लिए टाल दी.

गुरुवार को जोधपुर की सीजेएम कोर्ट के जज खत्री ने सलमान खान को 20 साल पुराने काले हिरण के शिकार से जुड़े मामले में दोषी करार देते हुए पांच साल कैद की सज़ा और 10,000 रुपये के जुर्माने की सज़ा सुनाई थी, जिसके बाद उन्हें कोर्ट से सीधे जोधपुर सेंट्रल जेल भेज दिया गया था.

Blackbuck Poaching Case: जोधपुर की जेल में कैदी नंबर 106 हैं सलमान खान, बैरक नंबर-2 में रखे गए

जोधपुर कोर्ट ने इस मामले में अन्य सभी आरोपियों - सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम को बरी कर दिया था.  जोधपुर के चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (CJM) की अदालत में सज़ा पर बहस के दौरान जहां सरकारी वकील ने अधिकतम सजा की मांग की थी, वहीं सलमान के वकील ने कम से कम सजा दिए जाने का अनुरोध किया था. जोधपुर जेल में सलमान खान कैदी नंबर-106 हैं और उन्हें बैरक नंबर 2 में रखा गया है.

यह घटना ‘हम साथ साथ है’ फिल्म की शूटिंग के दौरान 2 अक्टूबर, 1998 की है. इस केस में सलमान खान वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 और अन्य कलाकार वन्यजीव संरक्षण कानून की धारा 51 तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 149 (गैरकानूनी जमावड़ा) के तहत आरोपों का सामना कर रहे थे.

टिप्पणियां
सरकारी वकील भवानी सिंह भाटी ने कहा कि उस रात सभी कलाकार जिप्सी कार में थे, सलमान खान वाहन चला रहे थे. हिरणों का झुंड देखने पर उन्होंने गोली चलाई और उनमें से दो हिरण मार दिए थे.

VIDEO: जेल में बंद सलमान से मिलने पहुंचीं प्रीति जिंटा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement