एक दिन में 87 रेप केस, एक साल में 7% बढ़ा महिलाओं के खिलाफ अपराध: NCRB

साल 2019 में प्रति एक लाख महिला आबादी पर 62.4 फीसदी केस रजिस्टर्ड हुए हैं, जो साल 2018 में 58.8 फीसदी था.

एक दिन में 87 रेप केस, एक साल में 7% बढ़ा महिलाओं के खिलाफ अपराध: NCRB

"भारत में अपराध -2019" रिपोर्ट बताती है कि महिलाओं के खिलाफ अपराध पिछले साल के मुकाबले 7.3 प्रतिशत बढ़ गए हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

साल 2019 में अब तक दर्ज मामलों के मुताबिक भारत में औसतन रोजाना 87 रेप के मामले सामने आ रहे हैं. इस साल के शुरुआती नौ महीनों में महिलाओं के खिलाफ अबतक कुल 4,05, 861 आपराधिक मामले दर्ज हो चुके हैं. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों के मुताबिक यह 2018 की तुलना में सात फीसदी ज्यादा है. 
"भारत में अपराध -2019" रिपोर्ट बताती है कि महिलाओं के खिलाफ अपराध पिछले साल के मुकाबले 7.3 प्रतिशत बढ़ गए हैं.

साल 2019 में प्रति एक लाख महिला आबादी पर 62.4 फीसदी केस रजिस्टर्ड हुए हैं, जो साल 2018 में 58.8 फीसदी था. देशभर में साल 2018 में महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल 3,78, 236 मामले दर्ज किए गए थे. NCRB के आंकड़ों के मुताबिक, साल 2018 में देश में रेप के कुल 33,356 मामले दर्ज हुए हैं. 2017 में यह संख्या 32,559 थी.

NCRB के आंकड़ों के मुताबिक, “भारतीय दंड संहिता के तहत दर्ज इन मामलों में से अधिकांश  'पति या उसके रिश्तेदारों द्वारा क्रूरता' (30.9 प्रतिशत) के मामले हैं,  इसके बाद उनकी 'शीलता का अपमान करने के इरादे से महिलाओं पर हमले' (21.8 प्रतिशत), 'महिलाओं के अपहरण' (17.9 प्रतिशत) के मामले दर्ज हैं."

हाथरस गैंगरेप केस: रात 2.30 बजे पीड़िता का पुलिसवालों ने किया अंतिम संस्कार, परिजनों को कर दिया था घर में बंद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एनसीआरबी के आंकड़ों से पता चलता है कि केवल महिलाएं ही नहीं, बच्चों के खिलाफ भी अपराध से जुड़े मामलों में बढ़ोतरी हुई है. 2018 से, 2019 में बच्चों के खिलाफ अपराध के मामलों में 4.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. साल 2019 में बच्चों के खिलाफ अपराध के कुल 1.48 लाख केस दर्ज हुए हैं. इनमें से 46.6 फीसदी अपहरण और 35.3 फीसदी उनके यौन दुष्कर्म से जुड़े हैं.

वीडियो: हाथरस गैंगरेप केस : विरोध के बीच जबरन अंतिम संस्कार