NDTV Khabar

जावेद हबीब पर हिन्दु देवी-देवताओं का अपमान करने को लेकर मामला दर्ज

धारा 295-ए के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जावेद हबीब पर हिन्दु देवी-देवताओं का अपमान करने को लेकर मामला दर्ज

जावेद हबीब(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. विज्ञापन के कैप्शन भगवान भी जेएच सैलून आते हैं.
  2. हबीब एक वीडियो के जरिये इस मामले पर पहले ही माफी मांग चुके हैं.
  3. हबीब ने सोशल मीडिया ट्वीटर पर डाली है माफी की वीडियो.
हैदराबाद: हेयर स्टाइलिश जावेद हबीब अपने एक विज्ञापन के कारण सुर्खियों में आ गए हैं. समाचार-पत्र में प्रकाशित अपने सैलून के विज्ञापन में हिन्दू देवी-देवताओं का ‘अपमानजनक एवं शर्मनाक’ चित्रण करने की शिकायत के बाद आज मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने को बताया कि हबीब के अधिवक्ता करुणा सागर की शिकायत के आधार पर सैदाबाद पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 295-ए (किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं एवं विश्वासों को जानबूझकर एवं दुर्भावनापूर्ण तरीके से अपमानित करने के इरादे से किया गया कृत्य) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

अधिकारी ने हबीब को पूछताछ के लिये किसी प्रकार का नोटिस जारी करने के बारे में पूछने पर कहा, ‘हम इसके बारे में विचार करेंगे.’ अधिवक्ता ने सैदाबाद पुलिस थाने में दायर शिकायत में कहा कि सोशल मीडिया में उन्होंने एक समाचार पत्र में जावेद हबीब द्वारा जारी 'विज्ञापन' की तस्वीर देखी. उन्होंने हबीब के खिलाफ अपनी शिकायत में हिंदू देवी-देवताओं को ‘अपमानजनक’ तरीके से चित्रित करने का आरोप लगाया.

यह भी पढे़ं : Video: भगवान गणेश दिखे मीट के विज्ञापन में!

उन्होंने कहा कि यह विज्ञापन के कैप्शन ‘भगवान भी जेएच सैलून आते हैं’ ने उनकी धार्मिक भावनाओं का अपमान किया. हालांकि हबीब सोशल मीडिया ट्वीटर पर एक वीडियो के जरिये इस मामले पर पहले ही माफी मांग चुके हैं.

उन्होंने कहा, ‘हमारे भागीदारों में से किसी ने कोलकाता में बिना हमारी अनुमति के यह विज्ञापन जारी किया है. हमारी कारोबार प्रणाली फ्रेंचाइजी आधारित है. मैं पिछले 25 साल से काम कर रहा हूं और मेरा एकमात्र धर्म कैंची है. यदि इससे किसी की भावनाओं को चोट लगी है ... तो मैं माफी चाहता हूं.’ इसके अलावा सोशल मीडिया पर जावेद हबीब हेयर एंड ब्यूटी लिमिटेड के नाम से एक चिट्ठी भी पोस्ट की गयी थी, जिसमें कहा गया, ‘हम कभी भी किसी भी समुदाय की भावनाओं को चोट नहीं पहुंचाना चाहते थे. यह पश्चिम बंगाल के कुछ स्थानीय भागीदारों द्वारा हमारी जानकारी के बगैर किया गया है. हम मीडिया से इस प्रकार की सभी विज्ञापन सामाग्री हटा रहे हैं.’

इस पत्र में कहा गया, ‘यदि हमारे विज्ञापन अभियान ने अनजाने में किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाई है, तो हम इसके लिए जनता से क्षमा मांगते हैं.’ उल्लेखनीय है कि अधिवक्ता सागर के अलावा हैदराबाद विश्वविद्यालय के एक छात्र ने भी इसी विज्ञापन के लिये गाचीबोवली पुलिस थाने में हबीब के खिलाफ शिकायत की थी. उसने भी अपनी शिकायत में हेयर स्टाइलिस्ट हबीब पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया था.

VIDEOS :  पेरिस की दीवारों पर हिन्दू देवी-देवताओं के चित्र
गाचीबोवली पुलिस थाने के निरीक्षक एस चन्द्रकांत ने कहा था कि उन्होंने छात्र की शिकायत को जनरल डायरी (जीडी) में दर्ज कर लिया है और इसके कानूनी पहलुओं पर विचार कर रहे हैं.(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement