NDTV Khabar

कर्जे में डूबे युवक ने पहले की मासूम बेटियों और पत्नी की हत्या, फिर खुद झूला फांसी पर

घटना की जानकारी तब हुई जब सुबह शिव कुमार की मां उसके घर गई और उसके घर का दरवाजा खुला था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्जे में डूबे युवक ने पहले की मासूम बेटियों और पत्नी की हत्या, फिर खुद झूला फांसी पर

ग्रामीणों के अनुसार शिवकुमार बैठा के ऊपर काफी कर्ज था.

खास बातें

  1. कर्ज के कारण उठाया युवक ने ये कदम
  2. नोट में लिखी स्वेच्छा से आत्महत्या करने की बात
  3. कुएं से मिली एक बच्ची और पत्नी की लाश
रांची:

झारखंड में गढ़वा जिले के धुरकी थाना क्षेत्र के रक्शी गांव में कर्जे में डूबे एक युवक रविवार की रात को संदिग्ध रूप से अपनी दो छोटी बेटियों और पत्नी की हत्या कर खुद फांसी के फंदे से झूल गया. गढ़वा की पुलिस अधीक्षक शिवानी तिवारी ने बताया कि पुलिस घटना की छानबीन कर रही है और सभी के शवों को अंत्य परीक्षण के लिए ले गया है. रिपोर्ट आने के बाद ही घटना के बारे में विस्तार से कुछ कहा जा सकता है. उन्होंने बताया कि घटनास्थल से नोट भी बरामद हुआ है जिसमें लिखा गया है कि पूरा परिवार स्वेच्छा से आत्महत्या कर रहा है. 

क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुका पाने से परेशान पिता ने बेटी के साथ बिल्डिंग से लगाई छलांग, पिता की मौत और बेटी...

पुलिस के अनुसार रक्सी निवासी शिवकुमार बैठा ने अपनी पत्नी बबीता देवी (26) पुत्री तान्या कुमारी (10) एवं श्रेया कुमारी (6) की हत्या कर शव को कुएं में डाल दिया और खुद पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने बताया कि घटना की जानकारी तब हुई जब सुबह शिव कुमार की मां उसके घर गई और उसके घर का दरवाजा खुला था. घर से थोड़ी दूर पर स्थित अमरुद के पेड़ पर शिवकुमार का शव झूल रहा था. 


बैंक के कर्ज में डूबे महाराष्ट्र के किसान ने आत्महत्या की

मां के रोने और चिल्लाने पर जमा हुए गांव के लोगों ने और लोगों की खोजबीन की और अन्य शवों को कुएं से निकाला.शुरुआत में केवल शिवकुमार एवं एक बच्ची का शव बरामद हुआ था. एक बच्ची और पत्नी गायब थी. घटना को देखकर लोगों को आशंका हुई कि कही पत्नी एवं बच्चे की भी हत्या तो नहीं कर दी गई है. लोगों ने इस लिहाज आस पास के कुएं में खोजबीन शुरू की तो दूसरी बच्ची और पत्नी का शव कुएं में मिले. 

टिप्पणियां

मध्‍यप्रदेश में कर्ज माफी की योजना के दायरे में नहीं आने के कारण किसान ने की आत्महत्या

ग्रामीणों के अनुसार शिवकुमार बैठा के ऊपर काफी कर्ज था. वह काफी दिनों से तनाव में था. संभवत: इसी कारण उसने यह कदम उठाया होगा . इसघटना से आस पास के इलाकों में मातम छाया हुआ है. इस बीच पुलिस अधीक्षक शिवानी तिवारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच में शिवकुमार के उपर दो से ढाई लाख रुपये का कर्ज होने की बात सामने आयी है.साथ ही उसके डिप्रेशन में होने का भी खुलासा हुआ है. इसी सिलसिले में वह बनारस गया था और आगे जांच के लिए उसे मंगलवार को रांची जाना था जिसके पहले यह घटना हो गयी.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement