Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

आम आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान ने सुप्रीम कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार

खेतान ने कहा कि इसी तरह से  आरटीआई एक्टिविस्ट नरेंद्र डाभोलकर, पनसरे और कलबुर्गी जैसे लोगों को भी धमकी दी गई थी और फिर उनकी हत्या कर दी गई. उन्होंने अपनी याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट उन्हें पुलिस सुरक्षा मुहैया कराए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आम आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान ने सुप्रीम कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार

फाइल फोटो

खास बातें

  1. आशीष खेतान ने लगाई सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की गुहार
  2. दक्षिणपंथी संगठनों पर लगाया धमकी देने का आरोप
  3. कोर्ट से पुलिस सुरक्षा मांगी
नई दिल्ली:

आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान ने सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई है. उन्होंने कोर्ट से कहा है कि उन्हें दक्षिणपंथी संगठनों की ओर  से लगातार धमकी दी जा रही है. खेतान ने कोर्ट के सामने सनातन संस्था, अभिनव भारत और हिंदू जन जागरण समिति का नाम लेते हुए इनसे जुड़े लोग धमका रहे हैं और कई बार गुमनाम चिट्ठियां भी भेजी गई हैं. आप नेता ने दिल्ली पुलिस की शिकायत करते हुए कहा कि जानकारी दी गई है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई है. 

खेतान ने कहा कि इसी तरह से  आरटीआई एक्टिविस्ट नरेंद्र डाभोलकर, पनसरे और कलबुर्गी जैसे लोगों को भी धमकी दी गई थी और फिर उनकी हत्या कर दी गई. उन्होंने अपनी याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट उन्हें पुलिस सुरक्षा मुहैया कराए और इसके साथ ही पत्रकारों, एक्टिविस्ट और बाकी लोगों को सुरक्षा देने के लिए सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार को गाइडलाइन बनाने के आदेश जारी करे. 

टिप्पणियां

इसके साथ ही खेतान ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि उन्हें धमकी देने के मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए और सुप्रीम कोर्ट मामले की निगरानी करे. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही आम आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान ने दावा किया था कि उन्हें कट्टरपंथी हिंदू संगठनों द्वारा जान से मारने की कथित धमकी मिली है. खेतान ने धमकी की सूचना केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को देते हुए उनसे इस पर उचित कार्रवाई करने की मांग की थी. हालांकि गृह मंत्रालय की ओर से इस पर कोई प्रतिकिया देखने को नहीं मिली. खेतान ने सिंह को लिखे पत्र में कहा है कि उन्हें गत 9 मई को धमकी भरा पत्र मिला. इसमें कहा गया है कि हिंदू संतों के खिलाफ उनके पापों का घड़ा भर गया है.


पत्र में खेतान को ही साध्वी प्रज्ञा और वीरेन्द्र सिंह तावड़े जैसे संतों के आज जेल में होने के लिये जिम्मेदार ठहराया गया है. इसमें कहा गया है कि "तुम्हारे (खेतान) जैसे दुर्जन हिंदू राष्ट्र में सिर्फ मृत्युदंड के पात्र हैं, और यह कार्य ईश्वर की इच्छा से बहुत जल्द ही सम्पन्न होगा." 



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दीपिका पादुकोण ने कहा, "इश्‍क करना खता है तो सजा दो मुझे...", TikTok पर वायरल हुआ वीडियो

Advertisement