NDTV Khabar

अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री अब AAM Aadmi से रोज करेंगे मुलाकात, वो भी बिना अपॉइनमेंट के

सिसोदिया से पूछा गया कि पहले आम आदमी पार्टी दिल्ली में अपनी हार के लिए EVM को ज़िम्मेदार ठहरा रही थी और अब मान रही है कि जनता से डिसकनेक्ट इसका कारण था तो कितनी ज़िम्मेदार EVM को आप मानते हैं और कितना जनता से दूरी को?

1.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री अब AAM Aadmi से रोज करेंगे मुलाकात, वो भी बिना अपॉइनमेंट के

जनता से रोज मिलेंगे आम आदमी पार्टी के मंत्री और अफसर

खास बातें

  1. 10-11 बजे जनता से बिना अपॉइंटमेंट मिलेंगे
  2. 1 जून से लागू होगी योजना
  3. जनता और आप के बीच पैदा हुई दूरी होगी खत्म
नई दिल्ली: दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी को समझ आ गया है कि दिल्ली में उसकी बड़ी हार का कारण EVM नहीं, बल्कि जनता से बढ़ी दूरी थी इसलिए अब दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने फैसला किया है कि सोमवार से शुक्रवार सभी सरकार के सभी मंत्री, मुख्यमंत्री और अफसर बिना अप्वाइनमेंट जनता से सुबह 10 से 11 बजे मिलेंगे. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि हम पिछले दिनों लोगों के बीच जा रहे हैं और ये बात निकल कर आ रही है कि लोग सरकार के मंत्री से मिलना चाह रहे हैं. अफसर से मिलना चाह रहे हैं लेकिन सरकार का जनता से कुछ 'डिसकनेक्ट' हुआ है इसलिए अब दिल्ली के सभी मंत्री, अफ़सर रोज़ाना सुबह 10-11 बजे जनता से बिना अपॉइंटमेंट मिलेंगे कोई भी सीनियर अफ़सर, या मंत्री सोमवार से शुक्रवार इसके चलते कोई दूसरीं मीटिंग नहीं रखेगा सिर्फ जनता से मिलेगा. सिसोदिया ने बताया कि इसके लिए सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी को इसकी व्यवस्था करने को कहा है और 1 जून से इसको लागू करने की योजना है.

टिप्पणियां
सिसोदिया से पूछा गया कि पहले आम आदमी पार्टी दिल्ली में अपनी हार के लिए EVM को ज़िम्मेदार ठहरा रही थी और अब मान रही है कि जनता से डिसकनेक्ट इसका कारण था तो कितनी ज़िम्मेदार EVM को आप मानते हैं और कितना जनता से दूरी को? सिसोदिया बोले 'ये तो सरकार की ज़िम्मेदारी है'.

आपको बता दें कि बीते रविवार को आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपने सभी मंत्रियों विधायकों को रोज़ सुबह 10 बजे जनता से बिना अपॉइनमेंट मिलने का आदेश दिया था जिसको अमली जामा पहनाते हुए दिल्ली सरकार ने इसमें अफसरों को शामिल कर दिया है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement