NDTV Khabar

बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने 'आप' विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने पर दिया यह बयान...

यशवंत सिन्हा ने कहा, कोई सुनवाई नहीं, उच्च न्यायालय के आदेश का कोई इंतजार नहीं. यह बदतरीन किस्म की तुगलकशाही है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने 'आप' विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने पर दिया यह बयान...

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा.(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. भाजपा नेता ने 'आप' विधायकों की अयोग्यता को तुगलकशाही करार दिया
  2. यशवंत सिन्हा ने ट्वीट कर कहा-यह बदतरीन किस्म की तुगलकशाही है
  3. 'आप' के 20 विधायकों को अयोग्य करार दिया गया है
नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा 'आप' के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने की निर्वाचन आयोग की सिफारिश को मंजूरी देने को 'तुगलकशाही' करार दिया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'आप के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने का राष्ट्रपति का फैसला नैसर्गिक न्याय को पूर्ण रूप से निष्फल बनाना है. कोई सुनवाई नहीं, उच्च न्यायालय के आदेश का कोई इंतजार नहीं. यह बदतरीन किस्म की तुगलकशाही है.'

यह भी पढ़ें : 'पूरे देश में सिर्फ केजरीवाल ही भ्रष्ट मिला, बाकी सब ईमानदार हैं' 

कोविंद की मंजूरी के बाद, केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी की. इसमें कहा गया कि राष्ट्रपति ने दिल्ली विधानसभा के 20 सदस्यों को दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की सरकार अधिनियम (जीएनसीटीडी) के तहत अयोग्य ठहराया है. निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को 'आप' के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने की सिफारिश की थी. इन सभी पर बतौर संसदीय सचिव लाभ के पद पर आसीन होने के आरोप लगाए गए थे.

यह भी पढ़ें : विधायकों को अयोग्य करार देना 'असंवैधानिक' और लोकतंत्र के लिए 'खतरनाक' : आप

आयोग ने राष्ट्रपति को अपना सुझाव वकील प्रशांत पटेल की शिकायत पर दिया था. हिंदू लीगल सेल के सदस्य पटेल ने जून 2015 में संसदीय सचिवों की नियुक्ति को अवैध ठहराते हुए तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के समक्ष याचिका दाखिल की थी. पटेल द्वारा दाखिल शिकायत में कहा गया कि जरनैल सिंह समेत 'आप' के 21 विधायकों को दिल्ली सरकार में मंत्रियों के लिए संसदीय सचिव नियुक्त करके संविधान का उल्लंघन किया गया था.

टिप्पणियां
VIDEO : AAP के 20 विधायक अयोग्य करार


जरनैल सिंह ने पिछले साल पंजाब विधानसभा चुनाव में भाग लेने के लिए राजौरी गार्डन सीट से इस्तीफा दे दिया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement