बिजली दर नहीं बढ़ाने के बाद भाजपा एवं कांग्रेस की चुप्पी पर आप पार्टी ने साधा निशाना

बिजली दर नहीं बढ़ाने के बाद भाजपा एवं कांग्रेस की चुप्पी पर आप पार्टी ने साधा निशाना

आप नेता दिलीप पांडे (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी (आप) ने शुक्रवार को दावा किया कि दिल्ली विद्युत प्राधिकरण आयोग (डीईआरसी) द्वारा सलाना शुल्क निर्धारण प्रक्रिया के आखिर में शहर में बिजली की दरें नहीं बढ़ाने का श्रेय उसे जाता है।

Newsbeep

आप की दिल्ली इकाई के संयोजक दिलीप पांडे ने कहा, ‘‘दिल्ली के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि बिजली की दरें नहीं बढ़ायी गयीं। ऐसा इसलिए हुआ कि आप सरकार ने कैग लेखा परीक्षण का आदेश दिया था। इस लेखा परीक्षण की रिपोर्ट अबतक सार्वजनिक नहीं हुई है लेकिन लोगों के बीच जो भी सूचना है, उससे पता चलता है कि यह बिजली वितरण कंपनियांे को दोषी मानती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘डीईआरसी की सार्वजनिक बैठक के दौरान 15 आप विधायकों ने बिजली की दरों में किसी भी तरह की वृद्धि का विरोध किया था।’’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सत्तारूढ़ दल ने इस मुद्दे पर भाजप और कांग्रेस की चुप्पी पर भी सवाल खड़ा किया और उन पर बिजली वितरण कंपनियों के साथ साठगांठ करने का आरोप लगाया दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कल ट्वीट किया था, ‘‘दिल्लीवासियों को बधाई हो। आपके लिए एक बड़ी राहत। बिजली की दरों में कोई वृद्धि नहीं। मैंने कहा था कि यह संभव है। यह सारा कुछ ईमानदार राजनीति के चलते हुआ।’’ पांडे ने इस मुद्दे पर डीईआरसी की बैठक में शिरकत नहीं करने को लेकर कांग्रेस और भाजपा की आलोचना की।