NDTV Khabar

ईवीएम चैलेंज पर चुनाव आयोग से मिलेंगे 'आप' नेता, केजरीवाल को शर्त पर आपत्ति

चुनाव आयोग ईवीएम को अंदर से छेड़े बिना टैम्पर करने की चुनौती दे रहा, आप ने कहा - ईवीएम में अंदर से छेड़छाड़ न हो तो उसको टैम्पर या हैक नहीं किया जा सकता

1.8K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईवीएम चैलेंज पर चुनाव आयोग से मिलेंगे 'आप' नेता, केजरीवाल को शर्त पर आपत्ति

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग की ईवीएम से छेड़छाड़ की चुनौती में शामिल शर्त पर आपत्ति जताई है.

खास बातें

  1. चुनाव आयोग ने 3 जून को सभी पार्टियों को ईवीएम हैक करने की चुनौती दी
  2. ईवीएम को अंदर से देखने की छूट होगी लेकिन अंदर छेड़छाड़ की नहीं
  3. केजरीवाल ने कहा- बीजेपी वाले ईवीएम को मैनिपुलेट करते हैं
नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी नेता बुधवार को चुनाव आयोग से मिलकर आगामी ईवीएम चैलेंज पर चर्चा करेंगे और सफाई मांगेंगे. आम आदमी पार्टी को आपत्ति है कि चुनाव आयोग ईवीएम को अंदर से छेड़े बिना टैम्पर करने की चुनौती दे रहा है जबकि आम आदमी पार्टी मानती है कि जब तक ईवीएम से अंदर से छेड़छाड़ न हो उसको टैम्पर या हैक नहीं किया जा सकता है.

रविवार को आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने कहा कि "जब आपको (चुनाव आयोग) पता है बीजेपी वाले ईवीएम को ऐसे मैनिपुलेट करते हैं (ईवीएम का मदर बोर्ड बदलकर) तो चुनाव आयोग ने कह दिया कि बस ये नहीं कर सकते बाकी तरह से ईवीएम मैनिपुलेट करके दिखाओ, ये गलत है."

आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने 3 जून को सभी राष्ट्रीय और राज्य स्तर की पार्टियों को ईवीएम को टैम्पर या हैक करने की चुनौती दी है, जिसमें यह कहा गया गया है कि आयोग की निगरानी में चार घंटे के भीतर ईवीएम को बाहर से बटन आदि दबाकर या वाईफाई, ब्लूटूथ, इंटरनेट आदि से टैम्पर या हैक करके दिखाएं. इस दौरान पॉलिटिकल पार्टी के नुमाइंदों को ईवीएम को अंदर से देखने की छूट होगी लेकिन अंदर छेड़छाड़ नहीं की जा सकती.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement