OCI कार्ड वापस लेने के बाद लेखक आतिश तासीर बोले, सरकार की आलोचना करने की वजह से मुझे...

लेखक आतिश तासीर (Aatish Taseer) ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा कि, 'केंद्र सरकार की आलोचना करने की वजह से उन्हें निर्वासन में भेजा जा रहा है.'

OCI कार्ड वापस लेने के बाद लेखक आतिश तासीर बोले, सरकार की आलोचना करने की वजह से मुझे...

लेखक आतिश तासीर (Aatish Taseer) 

खास बातें

  • आतिश तासीर का ओसीआई कार्ड वापस ले लिया गया है
  • पीएम मोदी पर 'डिवाइडर इन चीफ' नाम से लिखा था लेख
  • कहा, सरकार की आलोचना की वजह से उठाया गया कदम
नई दिल्ली :

लेखक आतिश तासीर (Aatish Taseer) ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा कि, 'केंद्र सरकार की आलोचना करने की वजह से उन्हें निर्वासन में भेजा जा रहा है.' खुद को भारतीय बताते हुए ब्रिटेन में जन्मे लेखक आतिश अली तासीर ने कहा कि सरकार की आलोचना करने की वजह से उनका ओसीआई कार्ड वापस लिया गया. आपको बता दें कि पिछले हफ्ते ही सरकार ने आतिश तासीर (Aatish Taseer) का ‘ओवरसीज सिटिजन ऑफ इंडिया' (ओसीआई) कार्ड वापस ले लिया था. सरकार का कहना था कि उन्होंने (तासीर ने) कथित तौर पर यह तथ्य छुपाया कि उनके पिता पाकिस्तानी मूल के थे. इसके बाद यह कदम उठाया गया. गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि नागरिकता अधिनियम 1955 के अनुसार, तासीर ओसीआई कार्ड के लिए अयोग्य हो गए हैं क्योंकि ओसीआई कार्ड किसी ऐसे व्यक्ति को जारी नहीं किया जाता है जिसके माता-पिता या दादा-दादी पाकिस्तानी हों और उन्होंने यह बात छिपा कर रखी. 

PM Narendra Modi को 'डिवाइडर इन चीफ' बताने वाले लेखक Aatish Taseer का OCI कार्ड सरकार ने लिया वापस

Newsbeep

प्रवक्ता ने बताया था कि तासीर (38) ने स्पष्ट रूप से बहुत बुनियादी जरूरतों को पूरा नहीं किया और जानकारी को छुपाया है. नागरिकता अधिनियम के अनुसार, अगर किसी व्यक्ति ने धोखे से, फर्जीवाड़ा कर या तथ्य छुपा कर ओसीआई कार्ड हासिल किया है तो ओसीआई कार्ड धारक के रूप में उसका पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा और उसे काली सूची में डाल दिया जाएगा. साथ ही, भविष्य में उसके भारत में प्रवेश करने पर भी रोक लग जाएगी. तासीर पाकिस्तान के दिवंगत नेता सलमान तासीर और भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह के बेटे हैं. प्रवक्ता ने इस बात से भी इनकार किया था सरकार टाइम पत्रिका में आलेख लिखने के बाद से तासीर (Aatish Taseer) के ओसीआई कार्ड को रद्द करने पर विचार कर रही थी. इस आलेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com