RSS के कार्यक्रम में जाने वाले थे Accenture के MD, सोशल मीडिया पर होने लगा बॉयकॉट तो बदला मन

आईटी की दिग्गज कंपनी 'एसेंचर' (Accenture) के मैनेजिंग डायरेक्टर रामा रामचंद्रन (Rama Ramachandran) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एक कार्यक्रम में शिरकत करने वाले थे.

RSS के कार्यक्रम में जाने वाले थे Accenture के MD, सोशल मीडिया पर होने लगा बॉयकॉट तो बदला मन

रामा रामचंद्रन आईटी की दिग्गज कंपनी 'एसेंचर' के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • अगले महीने होगा RSS का 'उन्नत भारत'
  • एसेंचर के MD रामा रामचंद्रन नहीं जाएंगे
  • कंपनी के बॉयकॉट के बाद किया फैसला
चेन्नई:

आईटी की दिग्गज कंपनी 'एसेंचर' (Accenture) के मैनेजिंग डायरेक्टर रामा रामचंद्रन (Rama Ramachandran) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एक कार्यक्रम में शिरकत करने वाले थे. सोशल मीडिया पर मामले ने तूल पकड़ा, जिसके बाद उन्होंने इवेंट में जाने को लेकर मन बदल दिया. अब वह इस कार्यक्रम में शिरकत नहीं करेंगे. यह इवेंट अगले महीने चेन्नई में आयोजित होगा. नागरिकता कानून (Citizenship Law) के भारी विरोध के बीच रामा रामचंद्रन ने सोशल मीडिया पर 'एसेंचर' और टेक कंपनी 'जोहो' का बॉयकॉट किए जाने के बाद वहां जाने का फैसला रद्द कर दिया. 'जोहो' के शीर्ष अधिकारियों ने भी कार्यक्रम में शिरकत करने पर हामी भरी है.

आमंत्रित हस्तियों की लिस्ट से रामा रामचंद्रन का नाम हटा दिया गया है. RSS से जुड़े सूत्रों ने जानकारी दी है कि रामचंद्रन ने पहले 'उन्नत भारत' कार्यक्रम में आने पर सहमति जताई थी. 'जोहो' के फाउंडर श्रीधर वेंबू ने इस बारे में कहा कि वह अपने वादे पर कायम हैं और कार्यक्रम में जरूर शिरकत करेंगे. उन्होंने कहा, 'मैं ट्विटर पर हो रहे हमलों की वजह से अपना नजरिया तय नहीं करूंगा. अगर आपको मेरा उस इवेंट में जाना पसंद नहीं है तो आप वो कीजिए जो आपको लगे और मैं वो करूंगा जो मुझे करना होगा. हम अपने काम की वजह से अपनी रोजी-रोटी कमाते हैं और आगे भी बेहतर काम करते रहेंगे. मैं इसको लेकर हो रहे हमलों पर जवाब नहीं दूंगा.'

JNU में हिंसा को लेकर केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दिया बड़ा बयान,कहा - इस यूनिवर्सिटी में तो सिर्फ...

बताते चलें कि एसेंचर प्रमुख रामा रामचंद्रन ने नागरिकता कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए कार्यक्रम में जाने का फैसला बदल दिया. इवेंट में जाने की खबरों पर उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया था. जिसके बाद बैकफुट पर आते हुए उन्होंने 'उन्नत भारत' में नहीं जाने का फैसला किया. RSS के अनुसार, इससे पूर्व कार्यक्रम में उद्योगपति रतन टाटा, 'एचसीएल' के फाउंडर शिव नादर, 'विप्रो' के अजीम प्रेमजी और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी शिरकत कर चुके हैं. बीजेपी प्रवक्ता नारायणन तिरुपति ने इस बारे में कहा, 'सॉफ्टवेयर प्रोफेशनल्स के बीच दहशत फैलाने की कोशिश करने वाले लोगों की हम निंदा करते हैं. RSS एक महान राष्ट्रीय संगठन है. जो भी लोग जनता के बीच अफवाह फैला रहे हैं, उनके साथ सख्ती से निपटा जाएगा. तमिलनाडु सरकार और मैं ऐसा जरूर करूंगा.'

VIDEO: मोदी सरकार के खिलाफ BMS, आंदोलन की दी चेतावनी

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com