ESIC ने पेश किए आंकड़े: नवंबर में पैदा हुए 14.33 लाख नए रोजगार, अक्टूबर में मिली इतनी नई नौकरियां

नवंबर, 2019 में देश में 14.33 लाख नौकरियों पैदा हुईं. जबकि इससे पिछले महीने 12.60 लाख नौकरियां सृजित हुई थी. कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) के वेतनभुगतान के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

ESIC ने पेश किए आंकड़े: नवंबर में पैदा हुए 14.33 लाख नए रोजगार, अक्टूबर में मिली इतनी नई नौकरियां

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

नवंबर, 2019 में देश में 14.33 लाख नौकरियों पैदा हुईं. जबकि इससे पिछले महीने 12.60 लाख नौकरियां सृजित हुई थी. कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) के वेतनभुगतान के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. इससे पिछले महीने यानी अक्टूबर, 2019 में देशभर में 12.60 लाख रोजगार के अवसर पैदा हुए थे. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) की रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2018-19 में ईएसआईसी से 1.49 करोड़ नए अंशधारक जुड़े थे. आंकड़ों के अनुसार सितंबर 2017 से नवंबर, 2019 की अवधि के दौरान ESIC योजना से कुल 3.37 करोड़ नए अंशधारक जुड़े. NSO की रिपोर्ट ईएसआईसी, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ), पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) की विभिन्न योजनाओं से जुड़ने वाले अंशधारकों पर आधारित है. 

CSO रिपोर्ट में दावा: देश में नवंबर 2018 तक 15 महीने में 1.8 करोड़ नये रोजगार पैदा हुए

अप्रैल, 2018 से एनएसओ नए अंशधारकों या वेतन भुगतान पर आधारित आंकड़े जारी कर रहा है। एनएसओ ने इसमें सितंबर, 2017 से शुरू होने वाली अवधि के आंकड़े लिए हैं. रिपोर्ट के अनुसार सितंबर, 2017 से मार्च, 2018 की अवधि में ईएसआईसी से 83.35 लाख नए अंशधारक जुड़े। इसी प्रकार नवंबर 2019 में कर्मचारी भ्राविष्य निधि संगठन (EPFO) के साथ 11.62 लाख नये नौकरीपेशा लोगों का पंजीकरण हुआ. इससे पिछले महीने अक्टूबर में यह संख्या 6.47 लाख की रही. 

इंडियन बैंक ने 138 स्पेशलिस्ट ऑफिसर के पदों पर निकाली वैकेंसी, यूं करें अप्लाई

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

साल 2018- 19 की यदि बात की जाये तो EPFO से जुड़ने वाले और निकलने वाले अंशधारकों के बाद शु्द्ध रूप से 61.12 लाख नये अंशधारक भविष्य निधि संगठन से जुड़े हैं. ताजा आंकड़ों के मुताबिक सितंबर 2017 से लेकर नवंबर 2019 के दौरान कर्मचारी भविष्य निधि योजना से कुल मिलाकर 3.03 करोड़ लोग जुड़े हैं.  

Video: प्रधानमंत्री जी सरकारी नौकरी परीक्षा पर चर्चा कब होगी?