'मैं कोई मंत्री हूं या विपक्ष की नेता? कांग्रेस के लोग क्यों जला रहे मेरा पुतला?' कंगना रनौट ने फिर साधा निशाना

इस बीच राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में तीन-चार लोगों ने कंगना रनौट के खिलाफ सेक्टर-53 में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

'मैं कोई मंत्री हूं या विपक्ष की नेता? कांग्रेस के लोग क्यों जला रहे मेरा पुतला?' कंगना रनौट ने फिर साधा निशाना

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत पिछले कुछ हफ्तों से लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं.

नई दिल्ली:

विवादों में चल रहीं बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौट (Kangna Ranaut) ने फिर से कांग्रेस पर निशाना साधा है. पंजाब कांग्रेस के विरोध-प्रदर्शन और आंदोलन से जुड़े एक पोस्ट को साझा करते हुए कंगना ने ट्विटर पर लिखा है, "महाराष्ट्र में पहले कांग्रेस ने मुझे धमकी दी और मेरे पोस्टरों को चप्पलों से पीटा. अब पंजाब में कांग्रेस ने मेरे पुतले जला.. यह सीधे-सीधे गलत पहचान का मामला है. क्या मैं कोई मंत्री हूं या कोई महान विपक्षी नेता हूं? वे जो सोचते हैं वह चापलूसी है.." कंगना ने पंजाब कांग्रेस के एक ट्वीट पर यह रिएक्शन दिया है. 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अमृतसर में कंगना रनौट के न सिर्फ पुतले जलाए बल्कि किसानों पर उसकी टिप्पणी को लेकर आलोचना भी की है. इस बीच राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में तीन-चार लोगों ने कंगना रनौट के खिलाफ सेक्टर-53 में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. इनकी शिकायत है कि अभिनेत्री ने ट्विटर पर भगवान श्रीकृष्ण की तुलना राजनीतिक पार्टी से की है. आरोप में कहा गया है कि यह अभद्र टिप्पणी है और इससे यादव समाज को ठेस पहुंची है.

वडोदरा के नगर निगम चुनाव में 'कंगना रनौत', रामदास अठावले के साथ दिखे पोस्टर

कंगना रनौत पिछले कुछ हफ्तों से सुर्खियों में बनी हुई हैं. उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में ड्रग्स रैकेट पर भी बयान दिया था. इसके अलावा समाजवादी सांसद जया बच्चन के संसद में दिए गए बयान की भी कंगना ने आलोचना की थी. इससे पहले महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ बयान देने के बाद बीएमसी ने कंगना रनौट के मुंबई स्थित दफ्तर पर अवैध निर्माण का हवाला दे बुल्डोजर चलवाया था. हलांकि कोर्ट के दखल के बाद उसे तुरंत रोक दिया गया था. बाद में केंद्र सरकार ने उन्हें वाई प्लस ग्रेड की सुरक्षा दी.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो: कंगना ने सब अपने दम पर किया, जब वो आई थी तब कौन सा नेपोटिज्म था : रमेश सिप्पी