सुशांत सिंह राजपूत केस: ड्रग्स एंगल में मीडिया की खबरों के खिलाफ HC पहुंची रकुलप्रीत, की रोक लगाने की मांग 

रकुलप्रीत के वकील ने बताया कि रकुलप्रीत को एक शूटिंग के दौरान पता चला कि रिया चक्रवर्ती ने ड्रग्स लेने के लिए उसका और सारा अली खान का नाम लिया है.

सुशांत सिंह राजपूत केस: ड्रग्स एंगल में मीडिया की खबरों के खिलाफ HC पहुंची रकुलप्रीत, की रोक लगाने की मांग 

खास बातें

  • मीडिया में चल रही खबरों से परेशान अभिनेत्री पहुंची दिल्ली हाईकोर्ट
  • SSR केस में ड्रग एंगल पर मीडिया ट्रायल पर की रोक लगाने की मांग
  • गिरफ्तार रिया चक्रवर्ती ने NCB से लिया है रकुलप्रीत का नाम
नई दिल्ली:

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत से जुड़े ड्रग मामले में नाम आने पर अभिनेत्री रकुलप्रीत (Rakulpreet) ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) का दरवाजा खटखटाया है और मीडिया में चल रही खबरों पर रोक लगाने की मांग की है. अभिनेत्री ने अपनी याचिका में कहा है कि उसके खिलाफ मीडिया ट्रायल चलाया जा रहा है. रकुलप्रीत ने कोर्ट से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को निर्देश जारी कर मीडिया में ऐसी खबरों को रोकने की मांग की है. इसके लिए अभिनेत्री ने प्रोग्राम कोड और सूचना प्रसारण मंत्रायल के दिशा-निर्देशों का हवाला दिया है कि मीडिया घृणा अभियान नहीं चला सकता है. मामले की सुनवाई जस्टिस नवीन चावला की बेंच कर रही है.

रकुलप्रीत के वकील ने बताया कि रकुलप्रीत को एक शूटिंग के दौरान पता चला कि रिया चक्रवर्ती ने ड्रग्स लेने के लिए उसका और सारा अली खान का नाम लिया है. इसके बाद मीडिया ट्रायल शुरू हो गया. उसके घर पर मीडिया वाले पहुंच गए हैं और उसे परेशान किया जा रहा है. वकील ने कहा कि इस मामले में कोर्ट को दखल देना चाहिए. याचिका में अभिनेत्री ने कहा है कि एक मीडिया ट्रायल आर्टिकल 21 के तहत मेरे अधिकारों का उल्लंघन है. वकील ने कहा कि कोर्ट इस बावत निर्देश जारी करे कि मीडिया को किसी भी अदालत में विचाराधीन मामले के विवरण को चलाने की अनुमति नहीं हो.

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पूछा- "आज हम क्या कर सकते हैं? क्या आपने सूचना प्रसारण मंत्रालय से शिकायत दर्ज की है? हो सकता है कि मीडिया उत्तेजित हो रहा हो, लेकिन हम क्या कर सकते हैं?" इस पर रकुल के वकील ने कोर्ट से कहा, "मेरे खिलाफ निंदनीय और अपमानजनक सामग्री का प्रसारण रोकने के लिए आदेश जारी करें." इस पर जस्टिस चावला ने कहा, "SC ने भी इस मीडिया अभियान के मुद्दे को अन्य मामलों में नोट किया है, वे स्वयं को विनियमित नहीं कर रहे हैं, हम क्या करें?"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बाद में बेंच ने केंद्र सरकार, NBA और प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी कर मामले में पक्ष रखने को कहा है. हालांकि, अदालत ने कहा कि यह आशा की जाती है कि मीडिया हाउस और टीवी चैनल रकुलप्रीत के संबंध में कोई भी रिपोर्ट बनाते समय प्रोग्राम कोड और अन्य दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे.
 

वीडियो: रिया ने बताया कि सुशांत के कहने पर ड्रग्स मंगाया : NCB सूत्र