आदर्श नगर मर्डर: AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने लगाए बीजेपी और दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप

18 वर्षीय राहुल राजपूत की दोस्ती उसी इलाके में रहने वाली दूसरे संप्रदाय की एक लड़की से थी. लड़की के घर वालों ने इसे बुलाया और घेरकर पीटकर हत्या कर दी.

आदर्श नगर मर्डर: AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने लगाए बीजेपी और दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप

AAP नेता सौरभ भारद्वाज

खास बातें

  • कहा-बीजेपी नेता आदेश गुप्‍ता ने परिवार को भड़काने की कोशिश की
  • 'लड़की ने बताया, पुलिस वालों से मदद मांगी थी लेकिन कर दिया इनकार'
  • इस मामले में पुलिस वालों पर कार्रवाई हो, वरना हम आंदोलन करेंगे
नई दिल्ली:

Adarsh Nagar murder Case: दिल्‍ली के आदर्श नगर मर्डर मामले (Adarsh Nagar case) में आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज (saurabh bhardwaj) ने भाजपा और दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. गौरतलब है कि 18 वर्षीय राहुल राजपूत की दोस्ती उसी इलाके में रहने वाली दूसरे संप्रदाय की एक लड़की से थी. लड़की के घर वालों ने इसे बुलाया और घेरकर पीटकर हत्या कर दी.  सौरभ भारद्वाज ने कहा, 'मैं हमारी पार्टी के कुछ विधायक और मनीष सिसोदिया परिवार से मिलने गए थे, उससे पहले दिल्‍ली बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष आदेश गुप्ता भी पहुंचे थे, जो परिवार को भड़का रहे थे. मुझे लगा कि आदेश गुप्ता और उनकी पार्टी इसमें न्याय कर रही होगी लेकिन कल कुछ लोगों की उस लड़की से वीडियो कॉल पर बातचीत हुई और उसने कुछ चौंका देने वाली बातें बताई है' सौरभ भारद्वाज के अनुसार, 'उस लड़की ने हमें बताया कि घटना के समय वह राहुल राजपूत (Rahul Rajput) के साथ थी. उसे बचाने की कोशिश की और वहां से पास के पुलिस स्टेशन वह भाग कर पहुंची थी. पुलिस वाले चाय पी रहे थे, लड़की ने हाथ जोड़कर गुहार लगाई कि मेरे दोस्त को बचा लीजिए, पुलिस वालों ने कहा कि हम कोई मदद नहीं कर सकते.' 

आप नेता भारद्वाज ने कहा कि पुलिस चौकियां क्यों बनतीं हैं, उसमें पुलिस वाले किसी की मदद करने के लिए होते हैं, या चाय पीने के लिए और हफ्ता वसूलने के लिए. उन्‍होंने बीजेपी से सवाल करते हुए पूछा कि ऐसा क्यों हुआ, पुलिस वाले मदद करते तो आज राहुल जिंदा होता. वो फ्री में बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाता था, खुद आईएएस की तैयारी करता था. 

महिला को बेल्ट से पीटने वाले पांच पुलिस कर्मियों पर मामला दर्ज

आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा, 'पुलिस पर यह आरोप खुद उस लड़की ने लगाया है. उसने (लड़की ने) यह भी कहा है कि वहां 8-10 लोग थे जबकि पुलिस ने मामले में सिर्फ 5 लोगों को नामजद किया है. हम भाजपा से पूछना चाहते हैं कि उनकी पुलिस किसे बचाना चाहती है. कल रात पुलिस लड़की के पास पहुंची और सिम कार्ड ले लिया ताकि अब वो किसी से बात नहीं कर सके. पुलिस नहीं चाहती कि उसकी और भाजपा की पोल खुल जाए. भारद्वाज ने कहा, 'घटना के तुरंत बाद हमारे विधायक पवन शर्मा वहां पहुंचे थे, जबकि चार दिन बाद आदेश गुप्ता की नींद खुली. वे वहां पहुंचे तो पीड़ित के परिवार ने हाथ जोड़कर कहा कि यहां राजनीति मत करें. आप नेता ने कहा कि धर्म के ठेकेदारों से हम कहना चाहते हैं कि मामले में में पुलिस वालों पर कार्रवाई करें वरना हम आंदोलन करेंगे..." 

Newsbeep

लड़की से रिश्ता रखने पर युवक की सरेआम पीट-पीटकर हत्या

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com