विधायक अदिति सिंह पर कांग्रेस हिचक रही है या फिर कन्फ्यूज है?

इस लोकसभा चुनाव में जीत का अंतर देखते हुए ऐसा लगता है कि अदिति सिंह का बीजेपी में जाना कांग्रेस के लिए सबसे बड़ा खतरा होगा...

विधायक अदिति सिंह पर कांग्रेस हिचक रही है या फिर कन्फ्यूज है?

रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह (फाइल फोटो)

खास बातें

  • अदिति सिंह का है बगावती रुख
  • बीजेपी में जाने की हैं अटकलें
  • कांग्रेस ने जारी किया है नोटिस
नई दिल्ली:

बीते सप्ताह उत्तर प्रदेश के विशेष विधानसभा सत्र में भाग लेने के लिए पार्टी के व्हीप को चुनौती देने वाली कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह को आगामी विधानसभा उपचुनावों के लिए कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया गया है. हालांकि इस बारे में टिप्पणी करने से कांग्रेसी नेताओं ने मना कर दिया है, लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, यह सूची अदिति सिंह द्वारा 2 अक्टूबर को 36 घंटे तक चली विशेष विधानसभा सत्र में भाग लेने से पहले तैयार की गई थी. वहीं एक कांग्रेसी नेता ने कहा, "सूची जारी हो चुकी है और किसी ने भी उसे जांचने की आवश्यकता नहीं समझी." अदिति सिंह, जिन्हें शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू द्वारा कारण बताओ नोटिस भेजा गया था उन्होंने शनिवार को कहा था कि उन्हें ऐसा कोई नोटिस नहीं मिला है.  हालांकि आदिति द्वारा जवाब देने की समयसीमा रविवार को खत्म हो चुकी है. वहीं, कांग्रेस विधायकों ने शनिवार को दिल्ली में पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात कर उन्हें स्थिति से अवगत कराया था.

सोनिया गांधी की सीट रायबरेली में कांग्रेस के लिए बड़ा खतरा बन सकती हैं विधायक अदिति सिंह

कारण बताओ नोटिस में कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने कहा कि पार्टी ने दो दिन के विशेष सत्र के बहिष्कार का फैसला किया था और इस संबंध में व्हिप भी जारी किया था. लेकिन अदिति ने पार्टी के निर्देश की अवहेलना की. लल्लू ने अदिति से कहा कि उनका सत्र में शामिल होना'अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधि है.' 

आखिर अदिति पर कार्रवाई से क्यों हिचक रही कांग्रेस
मौजूदा समय रायबरेली की 5 विधानसभा सीटों में से दो कांग्रेस, दो बीजेपी और एक समाजवादी पार्टी के पास थी. लेकिन दिनेश सिंह के बीजेपी में जाने के बाद से उनके भाई जो कि हरचंदपुर से विधायक हैं वो भी एक तरह से बीजेपी में ही माने जाते हैं. यानी तीन विधायक पहले से ही बीजेपी के खाते में हैं. अदिति सिंह के जाने पर विधायकों की संख्या 4 हो जाएगी. इस लोकसभा चुनाव में जीत का अंतर देखते हुए ऐसा लगता है कि अदिति सिंह का बीजेपी में जाना कांग्रेस के लिए सबसे बड़ा खतरा होगा...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

क्या बागी हो गई हैं रायबरेली से कांग्रेसी विधायक अदिति सिंह?