NDTV Khabar

योगी आदित्यनाथ के मंत्री भी एक्शन में, उपेंद्र तिवारी ने कुछ ऐसे तेवर दिखाए कि सब हैरत में पड़े...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
योगी आदित्यनाथ के मंत्री भी एक्शन में, उपेंद्र तिवारी ने कुछ ऐसे तेवर दिखाए कि सब हैरत में पड़े...

दफ्तर में गंदगी से नाराज वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी ने झाड़ूू लगाई.

खास बातें

  1. वन और पर्यावरण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी ने चार्ज लिया
  2. केशव प्रसाद मौर्य ने पीडब्लूडी मुख्यालय में सफाई की शपथ दिलाई
  3. उपेंद्र तिवारी बलिया जिले की फेफना सीट से विधायक हैं
लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में शामिल वन और पर्यावरण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी ने आज अपना कार्यभार संभालने के साथ लोगों को हैरत में डाल दिया. उपेंद्र तिवारी गुरुवार को सुबह मंत्री पद का चार्ज लेने के लिए विधानसभा पहुंचे. उन्हें वहां अपना आफिस ठीक से साफ नहीं मिला. इस पर वे नाराज हो गए. इसके बाद ऐसा दृश्य सामने आया कि वहां मौजूद लोगों में डर के साथ हैरत के भाव देखने को मिले.  

गंदगी से खफा उपेंद्र तिवारी ने नाराजगी जाहिर करते हुए खुद ही झाड़ू उठाया और सफाई शुरू कर दी. मंत्री जी को झाड़ू लगाते हुए देखकर कुछ लोग डर गए तो कुछ हैरत में पड़ गए. योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनने के बाद आईएएस अफसरों के साथ मीटिंग की थी. इस बैठक में योगी ने अफसरों को सफाई रखने की शपथ भी दिलाई थी. प्रत्येक आईएएस अधिकारी को यह भी शपथ दिलाई गई कि वह अन्य सौ अधिकारियों को सफाई की शपथ दिलाएगा.

योगी सरकार के  एजेंडे में सफाई काफी ऊपर है. गुरुवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अपने काम के पहले दिन लखनऊ में पीडब्लूडी मुख्यालय के सारे अधिकारियों-कर्मचारियों को सफाई रखने की शपथ दिलाई.  

टिप्पणियां
वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री उपेंद्र तिवारी बलिया जिले की फेफना सीट से विधायक हैं. वे समाजवादी पार्टी से बीएसपी में गए अंबिका चौधरी को हराकर दूसरी बार एमएलए बने हैं. तिवारी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र नेता भी रह चुके हैं.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पद संभालते ही यूपी में प्रशासन एक्शन में दिखाई दे रहा है. ऐसे में उनके मंत्री भी एक्शन में दिख रहे हैं. बुधवार को सचिवालय पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने गंदगी के लिए अपने अफसरों को कड़ी फटकार लगाई थी. योगी आदित्यनाथ आज हजरतगंज थाने पहुंच गए. उन्होंने वहां पर रजिस्टर देखा और पूरे थाने का मुआयना किया. वहीं राज्य के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी अपने मंत्रालय का दौरा किया और अधिकारियों को निर्देश दिया कि फाइलों का निपटान जल्द से जल्द किया जाए. उन्होंने कहा कि उनके मंत्रालय के कार्य में किसी प्रकार का भाई भतीजावाद नहीं चलेगा. मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में कानून का राज हो. इस दृष्टि से पुलिस का मनोबल देखने और पुलिस की कार्यशैली की स्थिति को परखने के लिए यह दौरा था और ऐसे और दौरे हो सकते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement