"पिता जैसी सलाह" : शरद पवार की पार्टी ने राहुल गांधी को लेकर की गई उनकी टिप्पणी पर कहा

कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना मिलकर महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी गठबंधन की सरकार चला रहे हैं, लेकिन शरद पवार की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस के एक वर्ग में खासी नाराजगी देखी गई है.

मुंबई:

एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) में 'निरंतरता की कमी' वाली टिप्पणी पर अब पार्टी ने सफाई दी है. एनसीपी का कहना है कि ये टिप्पणी केवल केवल 'पिता जैसी सलाह' थी. पवार से पूछा गया था कि क्या देश राहुल गांधी को नेता मानने के लिए तैयार है? इस पर पवार ने कहा था कि इस संबंध में कुछ सवाल है.

कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना मिलकर महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी गठबंधन की सरकार चला रहे हैं, लेकिन शरद पवार की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस के एक वर्ग में खासी नाराजगी देखी गई है. एनसीपी के प्रवक्ता महेश तापसे ने आज कहा कि शरद पवार की टिप्पणी को "पिता जैसी सलाह" के रूप में लिया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें- NDTV की रिपोर्ट शेयर कर बोले राहुल गांधी, '...अब PM ने देश को इसी कुएं में धकेल दिया है'

तापसे ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “एक समाचार संगठन के साथ साक्षात्कार में शरद पवार साहब ने जो भी कहा, उसे एक अनुभवी नेता की पिता जैसी सलाह के रूप में माना जाना चाहिए. महाविकास अघाड़ी में तीनों दलों की सरकार है. यह शरद पवार थे जिन्होंने अपनी पुस्तक में राहुल गांधी पर टिप्पणी करने के लिए बराक ओबामा की आलोचना की थी. पवार साहब ने स्पष्ट कहा था कि ओबामा को अन्य देशों के नेताओं पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए."

बता दें कि राष्ट्रीय नेता के रूप में राहुल गांधी की साख पर टिप्पणी करते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने 3 दिंसबर को कहा कि उनमें कुछ हद तक 'निरंतरता' की कमी लगती है. कांग्रेस के सहयोगी पवार ने हालांकि कांग्रेस नेता पर बराक ओबामा की टिप्पणियों को लेकर कड़ी आपत्ति जताई. पवार का साक्षात्कार लोकमत मीडिया के अध्यक्ष और पूर्व सांसद विजय दर्डा ने किया.

यह पूछे जाने पर कि क्या देश राहुल गांधी को नेता मानने के लिए तैयार है, तो पवार ने कहा कि इस संबंध में कुछ सवाल हैं. उनमें निरंतरता की कमी लगती है. ओबामा ने हाल ही में प्रकाशित अपने संस्मरण में कहा था कि कांग्रेस नेता शिक्षक को प्रभावित करने के लिए उस उत्सुक छात्र की तरह लगते हैं जिसमें विषय में महारत हासिल करने के लिए योग्यता और जुनून की कमी है .

एनसीपी प्रमुख की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए महाराष्ट्र की मंत्री और कांग्रेस नेता यशोमति ठाकुर ने गठबंधन के सहयोगियों से आग्रह किया था कि यदि वे महाराष्ट्र में स्थिर सरकार चाहते हैं तो कांग्रेस के नेतृत्व पर टिप्पणी करना बंद करें. 

ठाकुर ने आज ट्वीट किया, "हमारा नेतृत्व बहुत मजबूत और स्थिर है. महाविकास अघाड़ी का गठन लोकतांत्रिक मूल्यों में हमारी मजबूत धारणा का परिणाम है ... मुझे एमवीए में सहयोगियों से अपील करनी चाहिए यदि आप महाराष्ट्र में स्थिर सरकार चाहते हैं, तो कांग्रेस के नेतृत्व पर टिप्पणी करना बंद करें. गठबंधन के बुनियादी नियमों का पालन करें. "

Newsbeep

तेजस्वी यादव की पार्टी के नेता बोले- चुनाव के समय पिकनिक मना रहे थे राहुल गांधी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com