NDTV Khabar

Mehul Choksi के वकील ने कहा- वो भारत नहीं आ सकते क्योंकि उन्हें गंभीर...

Mehul Choksi News: एंटीगा के पीएम का मेहुल चोकसी को धूर्त बताने वाले बयान के बाद अब चोकसी के वकील का बयान सामने आया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Mehul Choksi के वकील ने कहा- वो भारत नहीं आ सकते क्योंकि उन्हें गंभीर...

Mehul Choksi के वकील ने कहा- वो भारत नहीं आ सकते

खास बातें

  1. मेहुल चोकसी के वकील ने कहा- वो नहीं आ सकते भारत
  2. चोकसी को गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हैं- चोकसी के वकील
  3. एंटीगा के कानून के मुताबिक कानूनी उपचार करेंगे- चोकसी के वकील
नई दिल्ली:

एंटीगा के पीएम का मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को धूर्त बताने वाले बयान के बाद अब चोकसी के वकील का बयान सामने आया है. चोकसी के वकील ने कहा, 'मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) भारत नहीं आ सकते क्योंकि उन्हें गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हैं और वह एंटीगा के कानून के मुताबिक कानूनी उपचार करेंगे. इससे पहले चोकसी ने यह कहते हुए भारत आने से मना कर दिया था कि उन्हें डर है कि अगर वह भारत आए तो उनकी लिंचिंग हो जाएगी. गौरतलब है कि मेहुल चोकसी भगोड़ा हीरा व्यापारी  हैं. मेहुल के वकील विजय अग्रवाल ने कहा, 'वह(चोकसी) अपने उपचार के लिए भारत से निकले थे और उस समय कोई सीबीआई और ईडी की क्रिमिनल प्रोसीडिंग नहीं चल रही थी और ना ही ऐसी कोई कल्पना ही की गई थी. 

वकील ने कहा, 'किसी भी प्रकार के आरोपों का सामना करने वाला प्रत्येक व्यक्ति तब तक निर्दोष माना जाता है जब तक कि कानून की अदालत उसे दोषी नहीं ठहराती. वह सभी कानूनी उपायों का लाभ उठाने का हकदार है. उन्होंने प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन के तीखे कमेंट के घंटों बाद जारी बयान में कहा, "वह उचित समय में अपनी बेगुनाही साबित करेंगे."


ED ने मेहुल चौकसी की मर्सिडिज बेंज कार समेत 24.77 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की 

मेहुल चोकसी के वकील, जिन्होंने पिछले महीने  खराब स्वास्थ्य के बारे में बात की थी, ने कहा था कि वह मुंबई में अपनी मेडिकल रिपोर्ट नहीं दे सकते हैं, क्योंकि एंटीगा में उनके डॉक्टर ने "किसी कारण से" उनका इलाज करने से इनकार कर दिया है. 

मेहुल चोकसी की नागरिकता खत्म कर दी जाएगी, वह भारत प्रत्यर्पित होगा : एंटीगा के प्रधानमंत्री

टिप्पणियां

बता दें कि एंटिगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गेस्टन ब्राउन ने कहा था कि पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को भारत तब प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा, जब उसकी याचिकाओं का निपटारा हो जाएगा. ब्राउन ने भारत के सरकारी प्रसारणकर्ता डीडी न्यूज से कहा था, 'हम कानून को मानने वाले एक देश हैं, और मामला न्यायपालिका के समक्ष है.' एंटिगुआ के प्रधानमंत्री ने चोकसी को धूर्त करार देते हुए कहा, 'उसने (चोकसी) कई याचिकाएं दाखिल कर रखी हैं. और जबतक उसकी याचिकाएं निपट नहीं जातीं, हम कुछ नहीं कर सकते.'

VIDEO: भारत के दबाव में एंटीगा ने लिया मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द करने का फैसला



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement