बिहार के बाद अब BJP ने एमपी उपचुनाव में भी किया मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा, संकल्प पत्र में जिक्र

विधानसभा की कुल 230 सीटों में से वर्तमान में भाजपा के 107 विधायक हैं, जबकि काग्रेस के 87, चार निर्दलीय, दो बसपा एवं एक सपा विधायक है. बाकी 29 सीटें रिक्त हैं, जिनमें से दमोह विधानसभा को छोड़कर 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं.

बिहार के बाद अब BJP ने एमपी उपचुनाव में भी किया मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा, संकल्प पत्र में जिक्र

भोपाल:

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तीन नवंबर को मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव के लिए बुधवार को अपना संकल्प पत्र जारी किया. इसमें बिहार की तर्ज पर मध्य प्रदेश के सभी नागरिकों को मुफ्त में कोविड-19 टीका देने का वादा किया गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ामलहरा, अनूपपुर और सांची में संकल्प पत्र जारी किया, तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने अशोकनगर में संकल्प पत्र जारी किया. इसी प्रकार अलग अलग विधानसभा क्षेत्रों में केंद्रीय मंत्री, राज्य के मंत्री एवं वरिष्ठ नेताओं ने संकल्प पत्र जारी किया.

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बताया कि इस संकल्प पत्र में पूरे राज्य के लिए संकल्प करने के अलावा उन 28 विधानसभा सीटों के लिए अलग से भी संकल्प जारी किया गया है, जहां पर तीन नवंबर को उपचुनाव होने हैं. उन्होंने कहा कि ज्यादातर विधानसभा सीटों के स्थानीय मुद्दे संकल्प पत्र में शामिल हैं.

मध्य प्रदेश के लिए भाजपा के संकल्प में कहा गया है, ‘‘कोरोना की जंग हम साथ लड़ेंगे, प्रदेश के हर व्यक्ति को भाजपा सरकार मुफ्त वैक्सीन (टीका) उपलब्ध कराएगी.'' मध्य प्रदेश के इतिहास में पहली बार 28 विधानसभा सीटों पर एक साथ उपचुनाव होने जा रहे हैं. ये उपचुनाव तय करेंगे कि 10 नवबंर को इनके परिणाम आने के बाद कौन सी पार्टी प्रदेश में सत्ता में रहेगी - सत्तारूढ़ भाजपा या मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस.

जिन 28 सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उनमें से 25 सीटें कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा देकर भाजपा में आने से खाली हुए हैं, जबकि दो सीटें कांग्रेस के विधायकों के निधन से और एक सीट भाजपा विधायक के निधन से रिक्त है. उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने के कारण राज्य की तत्कालीन कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई थी, जिसके कारण कमलनाथ ने 20 मार्च को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. फिर 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार बनी. इसके बाद कांग्रेस के चार अन्य विधायक भी कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए.

Newsbeep

विधानसभा की कुल 230 सीटों में से वर्तमान में भाजपा के 107 विधायक हैं, जबकि काग्रेस के 87, चार निर्दलीय, दो बसपा एवं एक सपा विधायक है. बाकी 29 सीटें रिक्त हैं, जिनमें से दमोह विधानसभा को छोड़कर 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दमोह सीट पर उपचुनाव की तिथि घोषित होने के बाद कांग्रेस विधायक राहुल सिंह लोधी ने विधायकी एवं कांग्रेस से इस्तीफा दिया है और भाजपा में शामिल हुए हैं. भाजपा को बहुमत के जादुई आंकड़े तक पहुंचने के लिए इस उपचुनाव में मात्र नौ सीटों को जीतने की जरूरत है, जबकि कांग्रेस को पूरी 28 सीटों की.
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)