NDTV Khabar

JNU के बाद अब IIMC के छात्र धरने पर, महंगी फीस का कर रहे हैं विरोध

छात्रों ने बताया कि उनका प्रदर्शन भारी शिक्षण शुल्क और “असंगत” छात्रवास तथा भोजनालय शुल्क के खिलाफ है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU के बाद अब IIMC के छात्र धरने पर, महंगी फीस का कर रहे हैं विरोध

JNU के बाद अब IIMC के छात्र धरने पर

नई दिल्ली:

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रावास शुल्क में बढ़ोतरी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन मंगलवार को विश्वविद्यालय परिसर में स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान (IIMC) में भी पहुंच गया. IIMC में छात्रों ने महंगी फीस के खिलाफ प्रदर्शन किया और दावा किया कि आईआईएमसी प्रशासन ने उनके मुद्दों पर “आंख बंद” कर ली है. छात्रों ने बताया कि उनका प्रदर्शन भारी शिक्षण शुल्क और “असंगत” छात्रवास तथा भोजनालय शुल्क के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि चूंकि IIMC एक सरकारी संस्थान है, इसे देखते हुए यह शुल्क बहुत अधिक है.

चुभने लगी है फ़ीस की सूई छात्रों को, अब IIMC के पत्रकारों ने किया आंदोलन

IIMC में अंग्रेजी पत्रकारिता की छात्र आस्था सव्यसाची ने कहा कि दस महीने के पाठ्यक्रम के लिए 95,500 रुपये देने पड़ते हैं, जबकि छात्रवास तथा भोजनालय का शुल्क अलग है. उन्होंने कहा कि गरीब और मध्य वर्ग के छात्र इतनी फीस का भार नहीं उठा सकते हैं. उन्होंने कहा कि इसके चलते कई छात्रों को पहले सेमेस्टर के बाद संस्थान छोड़ना पड़ता है. एक छात्र ने बताया कि रेडियो और टीवी पत्रकारिता के डिप्लोमा पाठ्यक्रम की फीस 1,68,500 रुपये है, जबकि विज्ञापन तथा जनसंपर्क के लिए यह फीस 1,31,500 रुपये है, हिंदी पत्रकारिता के लिए यह फीस 95,500 रुपये, अंग्रेजी पत्रकारिता के लिए यह फीस 95,500 रुपये और उर्दू पत्रकारिता के लिए 55,500 रुपये है.


आईआईएमसी के 51वें दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि होंगी सुमित्रा महाजन

टिप्पणियां

छात्रावास और भोजनालय का शुल्क महिलाओं के लिए लगभग 6,500 रुपये प्रति माह और पुरुषों के लिए 4,800 रुपये प्रति माह है. उन्होंने यह शिकायत भी की कि प्रत्येक छात्र को छात्रावास में जगह नहीं मिलती है. गौरतलब है कि इससे पहले जेएनयू में छात्रावास शुल्क में बढ़ोतरी के विरोध में भारी प्रदर्शन हुआ था. 

VIDEO: IIMC के एक कॉन्फ़्रेंस में बस्‍तर के पूर्व आईजी कल्लूरी के आने पर विवाद



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


Advertisement