NDTV Khabar

कर्नाटक में कैबिनेट विस्‍तार के साथ कांग्रेस के सामने आई ये बड़ी चुनौती

कर्नाटक में कांग्रेस ने जेडीएस के साथ सरकार तो बना ली है लेकिन मंत्रिमंडल के बंटवारे के साथ ही पार्टी में घमासान शुरू हो गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक में कैबिनेट विस्‍तार के साथ कांग्रेस के सामने आई ये बड़ी चुनौती

कर्नाटक में एच. डी. कुमारस्वामी मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए 25 मंत्रियों को शामिल किया गया

नई दिल्ली: कर्नाटक में 15 दिन पुराने एच. डी. कुमारस्वामी मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए 25 मंत्रियों को शामिल किया गया. कैबिनेट में जेडीएस- कांग्रेस गठबंधन के कई नेताओं को शामिल नहीं किया गया. इस मंत्रिमंडल में 14 मंत्री कांग्रेस के, नौ मंत्री सहयोगी दल जेडीएस से और एक- एक मंत्री बसपा और केपीजेपी से हैं. इस मंत्रिमंडल का विस्‍तार होने के एक दिन बाद कांग्रेस के लिए मुसिबतें खड़ी हो गई है और कई विधायकों के समर्थकों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. 

कर्नाटक : कुमारस्वामी ने किया कैबिनेट का विस्तार, 25 मंत्रियों ने ली शपथ

कर्नाटक में कांग्रेस ने जेडीएस के साथ सरकार तो बना ली है लेकिन मंत्रिमंडल के बंटवारे के साथ ही पार्टी में घमासान शुरू हो गया है. कांग्रेस विधायकों के समर्थक सड़क पर उतरकर उनके लिए मंत्री बनाने की मांग कर रहे है. इसमें कांग्रेस विधायक रोशन बेग के समर्थकों ने कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया. समर्थकों की मांग थी कि रोशन बेग को मंत्री पद दिया जाना चाहिए. वहीं विधायक रामलिंगा रेड्डी के समर्थकों ने भी उन्‍हें मंत्री पद दिए जाने की मांग की है. 

वो तीन फैसले, जिनके लिए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल को हमेशा याद किया जाएगा

बुधवार को राज्यपाल वजुभाई वाला ने राजभवन में एक समारोह में नये मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. ये सभी कैबिनेट रैंक के मंत्री हैं. पूर्ववर्ती सिद्धारमैया सरकार के कई मंत्रियों को नये मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली जिनमें एम बी पाटिल, दिनेश गुंडू राव, रामालिंगा रेड्डी, आर. रोशन बेग, एच के पाटिल, श्यामनूर शिवशंकरप्पा, तनवीर सैत और सतीश जारखीहोली शामिल हैं.  कैबिनेट में शामिल किए जाने वाले नेताओं में कुमारस्वामी के बड़े भाई एच डी रेवन्ना और कांग्रेस नेता डी के शिवकुमार हैं. जेडीएस के जी टी देवगौड़ा को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है जिन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को मैसुरू के चामुंडेश्वरी सीट से हराया था. बहरहाल सिद्धारमैया बादामी सीट से विजयी हुए थे और अब कांग्रेस विधायक दल के नेता हैं. बसपा विधायक महेश और केपीजेपी के आर. शंकर भी कैबिनेट मंत्री बने हैं. 

BJP में शामिल होने की अफवाह पर प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा बोलीं- राजनीति छोड़ दूंगी, मगर...

कांग्रेस के जिन विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली उनमें आर वी देशपांडे, डी के शिवकुमार, के जे जॉर्ज, कृष्णा बायरे गौड़ा, शिवशंकर रेड्डी, रमेश जारखीहोली, प्रियांक खड़गे, यू टी खादेर, जमीर अहमद खान, शिवानंद पाटिल, वेंकटरमनप्पा, राजशेखर पाटिल, पुट्टारंगा शेट्टी और जयमाला शामिल हैं. जेडीएस के मंत्रियों में एच डी रेवन्ना, बंदप्पा काशमपुर, जी टी देवगौड़ा, डी सी थमन्ना, एम सी मनागुली, एस आर श्रीनिवास, वेंकटराव नादगौड़ा, सी एस पुट्टाराजू, सा रा महेश शामिल हैं.  गुजरे जमाने की अभिनेत्री जयमाला कैबिनेट में एकमात्र महिला मंत्री हैं जबकि जद एस के 83 वर्षीय मंगुली सबसे बुजुर्ग मंत्री हैं.
  
मंदसौर में राहुल गांधी के आरोपों का 6 प्वाइंट में अरुण जेटली ने किया खंडन, कहा- कितना जानते हैं वह?

टिप्पणियां
कुमारस्वामी की जाति वोक्कालिगा से सबसे ज्यादा नौ मंत्री कैबिनेट में हैं. संख्या बल में मजबूत लिंगायतों के चार, पिछड़े कुरुबा के दो, ब्राह्मण, अनुसूचित जनजाति, इगिडा और उप्पारा जाति से एक-एक विधायक मंत्री बने हैं. बुधवार को विस्तार के साथ मंत्रिमंडल में सदस्यों की संख्या 27 हो गई है और सात पद अब भी खाली हैं जिसमें छह कांग्रेस के लिए और एक जद (एस) के लिए है.  कुमारस्वामी ने मुख्यमंत्री और कांग्रेस के जी. परमेश्वर ने उपमुख्यमंत्री के रूप में 23 मई को शपथ ली थी.    कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण का बहिष्कार करने वाली बीजेपी ने समारोह का भी बहिष्कार किया है.

VIDEO: राहुल गांधी बोले, सत्ता में आए तो किसानों का कर्ज 10 दिन में माफ होगा 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement