NDTV Khabar

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा जमा हुई सारी रकम वैध नहीं है

जेटली ने यहां कहा, 'नोटबंदी ने प्रणाली में पारदर्शिता लाने में मदद की है. नकदी लौटकर बैंकिंग प्रणाली में वापस आई है,

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा जमा हुई सारी रकम वैध नहीं है

वित्त मंत्री अरुण जेटली (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नोटबंदी ने बेनामी पैसे पर रोक लगाई है और प्रणाली को झकझोरा है.
  2. नोटबंदी ने कर आधार बढ़ाने में मदद की
  3. प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संग्रहण बढ़ा है.
नई दिल्ली: नोटबंदी पर आए रिजर्व बैंक की हालिया रिपोर्ट के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली का ताजा बयान सामने आया है. भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नोटबंदी के बाद वापस लौटी रकम की रिपोर्ट में 99 फीसदी रकम के प्रणाली में वापस आ जाने की जानकारी देने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि 'जमा हुई सारी रकम वैध नहीं है.'द इकॉनमिस्ट पत्रिका द्वारा आयोजित 'इंडिया समिट 2017' का उद्घाटन करते हुए जेटली ने यहां कहा, 'नोटबंदी ने प्रणाली में पारदर्शिता लाने में मदद की है. नकदी लौटकर बैंकिंग प्रणाली में वापस आई है, लेकिन जरूरी नहीं है कि लौटकर आई सारी रकम वैध ही हो.'
 
आरबीआई ने बुधवार को कहा कि साल 2016 के नवंबर में की गई 500 रुपये और 1000 रुपये की नोटबंदी के बाद प्रचलन से बाहर हुए 15.44 लाख करोड़ नोट में से 15.28 लाख करोड़ नोट लौटकर प्रणाली में वापस आ चुके हैं.

यह भी पढे़ं : नोटबंदी के फैसले पर आरबीआई को शर्म आनी चाहिए : पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम

टिप्पणियां
मंत्री ने हालांकि कहा कि नोटबंदी का उद्देश्य कुल मिलाकर पूरा हो गया है.
 
उन्होंने कहा, 'इससे असंगठित क्षेत्र को संगठित बनाने में मदद मिली. नोटबंदी ने कर आधार बढ़ाने में मदद की, जिससे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संग्रहण बढ़ा है.' उन्होंने कहा, 'नोटबंदी ने बेनामी पैसे पर रोक लगाई है और प्रणाली को झकझोरा है.' जेटली ने कहा, 'दो तिहाई जीएसटी र्टिन दाखिल होने के साथ ही हमने लक्ष्य से अधिक हासिल कर लिया है. जीएसटी लागू होने के पहले महीने में इससे हुआ कर संग्रहण सरकार की उम्मीदों से अधिक है.'

VIDEO :  नोटबंदी पर  कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना​
 
उन्होंने कहा कि नोटबंदी के दीर्घकालिक असर से सरकारी खर्च को बढ़ावा मिलेगा, क्योंकि राजस्व अधिक इकट्ठा होगा.
(इनपुट आईएएनएस से)
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement