अगस्ता वेस्टलैंड मामला : सोनिया के बाद अब राहुल भी बीजेपी के निशाने पर

अगस्ता वेस्टलैंड मामला : सोनिया के बाद अब राहुल भी बीजेपी के निशाने पर

राहुल गांधी की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली:

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में सोनिया गांधी पर आरोप जड़ने के बाद बीजेपी ने अब राहुल गांधी पर भी बंदूक तान दी है। बीजेपी राहुल गांधी के सचिव कनिष्क सिंह को इस सौदे के घालमेल में शामिल बता रही है, जबकि कांग्रेस इसे आधारहीन बता रही है।

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में बीजेपी सोनिया गांधी का नाम इटली कोर्ट के फैसले के आधार पर ले रही है, लेकिन अब वह इसमें राहुल गांधी को भी लपेटने की कोशिश में है। बीजेपी सांसद किरीट सोमैया का आरोप है कि वेस्टलैंड मामले में एक बिचौलिया हश्के Emaar MGF कंपनी में डायरेक्टर थे। सोमैय्या के मुताबिक़ Emaar MGF राहुल गांधी के सचिव कनिष्क सिंह के परिवार की कंपनी है और इसमें हश्के का डायरेक्टर होना कई सवाल खड़े करता है। दरअसल किरीट सोमैया जताना चाहते हैं कि सबकुछ राहुल गांधी के संरक्षण में हो रहा था। हालांकि इसके लिए वे कोई ठोस सबूत नहीं पेश कर रहे हैं।

सोमैया का ये भी आरोप है कि यूपीए सरकार के समय Emaar MGF की वित्तीय गड़बड़ियों की जांच को लेकर ढिलाई बरती गई। इस कंपनी में हश्के के 2009 में डायरेक्टर होने की जानकारी देते हुए हुए सीबीआई और ईडी को लिखी उनकी चिठ्टी को भी नज़रअंदाज़ कर दिया गया। अब वे तमाम काग़ज़ातों के साथ इसे लोकसभा में उठाने की तैयारी में हैं। किरीट सोमैया मांग कर रहे हैं कि जाच हो और जो भी दोषी हों, सब पर कार्रवाई होनी चाहिए।

इस बीच कनिष्क सिंह अपनी तरफ़ से बयान जारी कर सफ़ाई दे चुके हैं कि Emaar-MGF कंपनी से उनका या उनके परिवार के किसी सदस्य का न पहले कोई शेयर होल्डिंग था न अब है। उनका हश्के के साथ भी किसी तरह की कोई जानपहचान या संपर्क नहीं है। आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद हैं।

कनिष्क सिंह से नजदीकी की वजह से अगस्ता की आंच अपने दामन तक पहुंचने के सवाल पर राहुल गांधी लगता है कि कि बीजेपी लगातार खास मकसद से उन पर निशाना साध रही है। संसद भवन के भीतर जाते-जाते राहुल गांधी सिर्फ इतना बोल गए कि मुझ पर निशाना साधे जाने को लेकर मैं खुश हूं।

Newsbeep

कांग्रेस ने संसद के हर सत्र में सरकार को लगातार घेरने की कोशिश की, लेकिन बजट सत्र  के इस हिस्से में सरकार की तरफ से कांग्रेस को घेरा जा रहा है। कांग्रेस इसे ध्यान भटकाने की कोशिश बता रही है। कांग्रेस सांसद रंजीता रंजन कहती हैं कि 300 सांसदों के साथ भी वे खुश नहीं हैं और हमें टारगेट कर रहे हैं। सरकार बस ध्यान भटका कर रखना चाहती है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्यसभा में सुब्रमण्यम स्वामी तो लोकसभा में किरीट सोमैया ने गांधी परिवार पर प्रहार की कमान संभाली है। जाहिर है कांग्रेस जब अपने सबसे बड़े नेताओं के बचाव में जुटी रहेगी तो सरकार पर हमले की उसकी धार में कमी आएगी।