NDTV Khabar

बालाकोट ऑपरेशन के बाद भारत पाकिस्तान पर भरपूर दबाव बनाने की कोशिश में जुटा

भारत ने कहा मसूद को लेकर सिर्फ बात करने से बात नहीं बनेगी, पाक को ठोस कार्रवाई करके दिखाना होगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बालाकोट ऑपरेशन के बाद भारत पाकिस्तान पर भरपूर दबाव बनाने की कोशिश में जुटा

इस्लामिक सहयोग संगठन की बैठक में भारत ने पाकिस्तान पर पूरा दबाव बनाने की कोशिश की.

नई दिल्ली:

बालाकोट के बाद भारत की पूरी कोशिश पाकिस्तान पर ज़्यादा से ज़्यादा दबाव बनाने की है.अभिनंदन को लेकर सरकार ने साफ कर दिया था कि कोई सौदेबाज़ी नहीं होगी. सूत्रों के अनुसार इस्लामिक सहयोग संगठन (Organisation of Islamic Cooperation) में भारत ने कहा है कि पाक ने माना है कि मसूद पाकिस्तान में है और उसे जैश के मुखिया के तौर पर भी माना है. हालांकि कार्रवाई की सिर्फ बात करने से बात नहीं बनेगी. पाक को ठोस कार्रवाई करके दिखाना होगा.

सूत्रों के मुताबिक इस्लामिक सहयोग संगठन में भारत ने कहा कि नए पाकिस्तान की जगह नया एक्शन करके दिखाना होगा. भारत सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों के पास जाकर 1267 में मसूद को डालने की बात करेगा. सब मरीन का फुटेज 18 नवबंर 2016 का है. भारत ने कहा है कि पाकिस्तान की लगातार कोशिश ध्यान भटकाने की रही है. भारत के मीडिया के एक सेक्शन को कोसा जा रहा है कि वार मांगरिंग हो रही है. पाक ने कहा था बालाकोट ले जाकर दिखाएंगे, अभी तक क्यों नहीं ले गए. पाक ने दो जंगी जहाजों को गिराने की बात की, दूसरे का मलबा क्यों नहीं दिखा रहे? दूसरे के पायलट के बारे में क्यों नहीं बता रहे (मतलब झूठ बोल रहे हैं).

सूत्रों ने बताया कि भारत ने कहा कि मिसाइल ताइवान का बताया, और ताइवान ने मना कर दिया. भारत ने किसी देश की मध्यस्थता की बात नहीं की है. पाकिस्तान हर देश का दरवाजा खटखटा रहा है, मध्यस्थता के लिए. कोई उसकी नहीं सुन रहा. किसी देश ने कोई ऐसा बयान नहीं दिया कि हम मध्यस्थता कर रहे हैं या करना चाह रहे हैं. यह भारत-पाक के बीच की बात नहीं, यह आतंकवाद की बात है.


इस्लामिक सहयोग संगठन के प्रस्ताव पर भारत ने साफ कहा- जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा और आंतरिक मामला

भारत को इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) में 50 साल के बाद शिरकत का मौका मिला. विदेश मंत्री का जाना ऐतिहासिक है. पाक बाहर रहने को मजबूर हुआ. सूत्रों के मुताबिक कश्मीर पर OIC के प्रस्ताव पर भारत का पुराना रुख है, कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है. ध्यान देने की बात है कि OIC में एक नया प्रस्ताव भी पास हुआ है कि क्षेत्र को आतंकवाद से मुक्त करना है. इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए.

सूत्रों के अनुसार भारत ने कहा कि मारे गए आतंकियों की तादाद पर और नुकसान पर हम पहले जो कह चुके उसमें कुछ नया नहीं कहना है. दिखाया गया मरीन फुटेज पुराना है. F16 पर पाक को तस्दीक करनी है. यदि फिर आतंकी हमला हुआ तो भारत के विकल्प खुले हैं.

सुषमा स्वराज के भाषण के एक दिन बाद OIC ने कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत पर साधा निशाना

भारत ने कहा कि हमने अमेरिका को मिसाइल का नंबर दे दिया है. अमेरिका जांच कर तय करेगा. ताइवान मना कर चुका है. साल 2016 में भी मरीन पाक के जल क्षेत्र में नहीं था. भारत ने साफ कहा कि हमारा मकसद है कि मसूद ग्लोबल आतंकी घोषित हो. हाफिज सईद अब भी घूमता है,  मंत्रियों से मिलता है. वह न सिर्फ ग्लोबल आतंकी घोषित हो बल्कि उसका असर भी दिखे.

VIDEO : आतंकवाद से दुनिया को खतरा

टिप्पणियां

सूत्रों के मुताबिक भारत ने कहा है कि UNSC ने जो बयान दिया उसमें जैश के जिम्मेदारी लेने की बात शामिल है. चीन भी सुरक्षा परिषद का सदस्य है. यह बात उम्मीद बढ़ाती है .13 मार्च तक देखना है कि कोई आपत्ति आती है या नहीं (13 मार्च आखिरी तारीख है) .



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement