शाहीनबाग में पुलिस कार्रवाई के बाद अब प्रदर्शनकारियों ने उठाया ये कदम...

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि COVID-19 के कारण लॉकडाउन के उपायों का हवाला देते हुए बुधवार सुबह की गयी पुलिस कार्रवाई बेहद अनुचित थी.

शाहीनबाग में पुलिस कार्रवाई के बाद अब प्रदर्शनकारियों ने उठाया ये कदम...

शाहीनबाग में चल रहे प्रदर्शन को पुलिस ने खाली करवा दिया था

खास बातें

  • शाहीनबाग के प्रदर्शनकारी पहुंचे SC
  • पुलिस कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शनकारी पहुंचे अदालत
  • कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली पुलिस ने की थी कार्रवाई
नई दिल्ली:

शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल खाली कराने के मामले में दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर कड़ी आपत्ति जताते हुए प्रदर्शनकारियों ने सुप्रीम कोर्ट में शिकायत की है. अदालत द्वारा नियुक्त वार्ताकारों के माध्यम से उच्चतम न्यायालय के समक्ष अपना पक्ष बताया है. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि COVID-19 के कारण लॉकडाउन के उपायों का हवाला देते हुए बुधवार सुबह की गयी पुलिस कार्रवाई बेहद अनुचित थी, क्योंकि उन लोगों ने खुद ही COVID-19 प्रोटोकॉल के मद्देनजर भागीदारी की संख्या कम कर दी थी, जो पांच महिलाओं से कम थी. शाहीन बाद में सिर्फ प्रतीकात्मक विरोध चल रहा था. इसके बावजूद, पुलिस ने कुछलोगों के सहयोग से , COVID-19 लॉकडाउन उपायों को लागू करने के बहाने, प्रदर्शन स्थल खाली कराया और सामान भी हटा दिया.

शाहीन बाग के बाद जाफराबाद और तुर्कमान गेट पर हो रहे प्रदर्शन को भी पुलिस ने कराया बंद

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले 101 दिन से चल रहे को प्रदर्शन को मंगलवार को खत्म कर दिया गया था. दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते जगह को खाली कराया. इस दौरान मौजूद महिलाओं समेत कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है. पुलिस के कई बार समझाने के बावजूद प्रदर्शनकारियों का एक तबका उठने को तैयार नहीं था. प्रशासन का कहना था कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रदर्शन खत्म कराया गया. साथ शाहीन बाग से कुल 9 लोगों को हिरासत में भी लिया गया था. जिसमें 6 महिलाएं और 3 पुरुष है. 

शाहीनबाग को पुलिस ने कराया खाली, 101 दिन से CAA-NRC के खिलाफ चल रहा प्रदर्शन हुआ खत्म

Newsbeep

बताते चले कि कोरोना वायरस के चलते जनता कर्फ्यू के आह्वान के बीच दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को बंद करवाने को लेकर रविवार को दो गुट आपस में भिड़ गए थे. दोनों पक्षों में करीब आधे घंटे तक मारपीट और गालीगलौज हुई. एक पक्ष चाहता था कि पीएम के जनता कर्फ्यू के ऐलान का समर्थन किया जाए जबकि दूसरा पक्ष इसे मानने को तैयार नहीं था. इसी बात पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई. हालांकि, बाद में मामला शांत करवा दिया गया था. बवाल के वक़्त स्टेज जिस से लोग भाषण देते हैं उसमें रखे समान को भी एक बार भीड़ ने उठा लिया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग को खाली कराया