NDTV Khabar

IMA की देशव्यापी हड़ताल कल, एम्स के डॉक्टर नहीं होंगे शामिल, निकालेंगे मार्च

कोलकाता में डॉक्टरों की पिटाई के विरोध में सोमवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एक दिन की हड़ताल बुलाई है, लेकिन इस हड़ताल में  AIIMS के डॉक्टर शामिल नहीं होंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IMA की देशव्यापी हड़ताल कल, एम्स के डॉक्टर नहीं होंगे शामिल, निकालेंगे मार्च

एम्स के डॉक्टर हड़ताल में शामिल नहीं होंगे. वे मार्च निकालेंगे.

नई दिल्ली :

कोलकाता में डॉक्टरों की पिटाई के विरोध में सोमवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एक दिन की हड़ताल बुलाई है, लेकिन इस हड़ताल में  AIIMS के डॉक्टर शामिल नहीं होंगे. उसकी जगह वे सुबह 8-9 बजे मार्च कर अपना विरोध दर्ज कराएंगे. AIIMS की ओर से कहा गया है कि उनकी कोलकाता के हालात पर नज़र है और वे उम्मीद कर रहे हैं कि ममता सरकार डॉक्टरों की मांगें मानेंगी. कोलकाता में सोमवार दोपहर 3 बजे ममता बनर्जीऔर हड़ताली डॉक्टरों की मुलाक़ात होगी. सीएम आवास के पास ममता बनर्जी 14 कॉलेजों के प्रतिनिधि छात्रों से मिलेंगी. मीडिया को यहां आने की इजाज़त नहीं दी गई है.  

हड़ताली डॉक्टरों ने CM ममता बनर्जी से मुलाकात के लिए सहमति जताई, रखी ये शर्त 


आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के हड़ताली चिकित्सकों ने रविवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ बातचीत के जरिए गतिरोध खत्म करने का फैसला किया, लेकिन उन्होंने कहा कि विसंगतियों से बचने के लिए बातचीत का मीडिया कवरेज होना चाहिए. हड़ताल के छठे दिन जनरल बॉडी की बैठक के बाद एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के विरोध कर रहे चिकित्सकों के एक प्रतिनिधि ने मीडिया से कहा, "हमारी मुख्यमंत्री का अंतिम प्रेस साक्षात्कार विसंगतियों से भरा है, जिसकी वजह से हमारे विरोध प्रदर्शन व सरकार के इस पर प्रतिक्रिया के पीछे गलत मंशा बताई गई. इसलिए स्पष्टीकरण की जरूरत है". 

ममता बनर्जी के साथ बातचीत को तैयार, 'जगह' बाद में तय करेंगे : हड़ताल पर बैठे डॉक्टरों ने कहा

हड़ताल से सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हुई हैं. इस बैठक में हड़ताल में भाग ले रहे दूसरे अस्पतालों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया. उन्होंने कहा, "हम मुख्यमंत्री के साथ चर्चा के के जरिए इस गतिरोध को तत्काल समाप्त करना चाहते हैं, जो पारदर्शिता बनाए रखने के लिए बंद दरवाजों के पीछे नहीं होना चाहिए. मुख्यमंत्री स्थल चुन सकती है, लेकिन उस जगह पर सभी मेडिकल कॉलेजों के प्रतिनिधियों व राष्ट्रीय मीडिया को समायोजित करने की क्षमता होनी चाहिए"प्रतिनिधि ने कहा कि चिकित्सक एक बार अपनी मांगों के पर्याप्त रूप से व तर्क के साथ पूरा करने के बाद जल्द से जल्द आम लोगों के स्वास्थ्य हित में ड्यूटी में शामिल होना करना चाहते हैं. (इनपुट- IANS) 

टिप्पणियां

VIDEO: डॉक्‍टरों की हड़ताल पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से NDTV की खास बातचीत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement