Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, कहा- लोकतंत्र में विपक्ष का सम्मान किया जाना चाहिए

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने एक लेख को शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा है कि  लोकतंत्र में विपक्ष का सम्मान किया जाना चाहिए न कि उसे धूमिल किया जाना चाहिए.

AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, कहा- लोकतंत्र में विपक्ष का सम्मान किया जाना चाहिए

असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है.

खास बातें

  • असदुद्दीन ओवैसी ने सीमा सिरोही का एक लेख ट्वीट किया है
  • ओब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन ने इस लेख को छापा है
  • लेख में मोदी सरकार की आलोचना की गई है
नई दिल्ली:

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने एक लेख को शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा है कि  लोकतंत्र में विपक्ष का सम्मान किया जाना चाहिए न कि उसे धूमिल किया जाना चाहिए. हालांकि, कुछ लोगों को ऐसा करना नहीं आता पर ज्यादातर लोगों की भलाई के लिए यही इकलौता रास्ता है.ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के इस लेख में '2020 के लिए एक सवाल है कि क्या भारत वापसी कर पाएगा?' लेख में कहा गया है कि प्रधानमंत्री की 2019 की चुनावी जीत को उनके द्वारा लिए गए फैसलों ने धूमिल कर दिया. इस लेख में मोदी सरकार द्वारा 2019 में लिए गए फैसलों पर टिप्पणी की गई है.

मेरठ में बोले ओवैसी- एसपी साहब, हिंदू-मुसलमानों ने आजादी की लड़ाई लड़ी थी, आपको हमारी कुर्बानी याद नही आई?

लेख में कश्मीर से 370 हटाए जाने, बदहाल अर्थव्यवस्था का जिक्र है. लेख में कहा गया है कि यदि मोदी सरकार अगर इस तरह के फैसले लेती रही तो वह दुनिया के आगे अपनी विश्वसनीयता गंवा देगी. लेख में कहा गया है कि भारत के मित्र राष्ट्र भी इस बात से चिंतित हैं कि भारत एक सेक्युलर और बहुलतावादी देश से किस दिशा में आगे बढ़ रहा है. देशभर में नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर हो रहे छात्र आंदोलनों की ओर दुनिया की निगाहें टिकी हुई हैं. लेख के सबसे आखिर में वे पंक्तियां लिखी हैं जिन्हें सांसद ओवैसी ने शेयर किया है. 

देखें वीडियो- 2010 से अलग है इस बार का NPR- ओवैसी