लॉकडाउन में फंसे बिहार के लोग, असदुद्दीन ओवैसी ने साधा CM नीतीश कुमार पर निशाना, वीडियो शेयर कर पूछा- इन्हें क्यों छोड़ दिया?

AIMIM पार्टी के मुखिया और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) लगातार अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के लोगों को मदद मुहैया कराने से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं.

लॉकडाउन में फंसे बिहार के लोग, असदुद्दीन ओवैसी ने साधा CM नीतीश कुमार पर निशाना, वीडियो शेयर कर पूछा- इन्हें क्यों छोड़ दिया?

असदुद्दीन ओवैसी ने वीडियो ट्वीट कर CM नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • असदुद्दीन ओवैसी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना
  • वीडियो शेयर कर पूछा- आपने इन्हें क्यों छोड़ दिया?
  • लॉकडाउन से कई राज्यों में फंसे हैं दूसरे राज्य के लोग
नई दिल्ली:

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में कमी नहीं आ रही है. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 24 मार्च को देश में 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया था. राज्य सरकारें सख्ती से इसका पालन भी करवा रही हैं. सभी राजनीतिक पार्टियां जनता से इस लॉकडाउन का पालन करने की अपील कर रही हैं. साथ ही पार्टियों के कार्यकर्ता हर संभव स्तर पर लोगों को मदद मुहैया करवा रहे हैं. AIMIM पार्टी के मुखिया और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) लगातार अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के लोगों को मदद मुहैया कराने से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं. एक वीडियो शेयर करते हुए ओवैसी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए लिखते हैं, 'AIMIM पार्टी के कार्यकर्ता हमारे भाइयों जो बिहार के किशनगंज के रहने वाले हैं और वर्तमान में हफीजपेट में रहते हैं, को पका हुआ खाना बांट रहे हैं. लॉकडाउन की वजह से वह हैदराबाद में फंस गए हैं. नीतीश कुमार, यह लोग आपके राज्य से हैं, आपने उन्हें क्यों छोड़ दिया.'

एक दूसरे ट्वीट में असदुद्दीन ओवैसी लिखते हैं, 'यह लोग अपने घरों से दूर रहकर काम करते हैं और बिहार में रह रहे अपने परिवारों की मदद करते हैं, लेकिन आज उनके राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनका साथ छोड़ दिया है. सीमांचल के लोगों के साथ आपके राज्य और दूसरे राज्यों में सौतेला व्यवहार क्यों हो रहा है.' बता दें कि हाल ही में नीतीश कुमार ने कहा था कि बसों से लोगों को उनके राज्यों तक पहुंचाने से लॉकडाउन का मकसद ही खत्म हो रहा है. बेहतर होगा कि फंसे हुए लोगों को वहीं पर खाना और अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएं. जिसके बाद बिहार और यूपी सरकार ने आदेश दिए थे कि प्रवासी लोगों के उनके राज्य में दाखिल होने पर उन्हें 14 दिनों तक सरकारी कैंपों में रहना होगा.

बताते चलें कि दुनिया के साथ-साथ भारत में भी कोरोना वायरस का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है. 180 से ज्यादा देशों में फैल चुका यह वायरस अब तक 32,000 से ज्यादा जानें ले चुका है. दुनियाभर में करीब 6 लाख लोग इससे संक्रमित हैं. भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1024 हो गई है. बीते रविवार इसके 106 नए मामले सामने आए. देश में अभी तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 96 मरीज इस बीमारी को हराने में कामयाब भी हुए हैं. देश के सभी राज्यों से इसके मरीज सामने आ रहे हैं. केंद्र सरकार ने इससे बचाव के चलते ही देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है. 14 अप्रैल को यह लॉकडाउन खत्म होगा.

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : कोरोना से लड़ने के लिए कहां से आएंगे हजारों वेंटिलेटर

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com